गोरखपुर। रेल मंत्रालय ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय तथा गृह मंत्रालय की सहमति पर आज यानी 12 मई से 15 जोड़ी विशेष गाड़ियों का संचलन आरम्भ किया है। इन विशेष गाड़ियों का किराया नियमित टाइम-टेबुल्ड राजधानी गाड़ियों अथवा रेलवे बोर्ड के कोचिंग निदेशालय द्वारा नोटिफाइड नियमित टाइम-टेबुल्ड ट्रेनों के बराबर है।
टिकटों की बुकिंग आईआरसीटीसी के बेवसाइट अथवा मोबाईल एप के माध्यम से आन-लाईन ही हो रहा है। आईआरसीटीसी एजेन्ट अथवा रेलवे एजेन्ट द्वारा टिकटों के बुकिंग की अनुमति नहीं है। अग्रिम आरक्षण अवधि अधिकतम 7 दिनों की है। केवल कन्फर्मड टिकट ही बुक किये जा रहे है। आरएसी, वेटिंग लिस्ट या अथवा आन बोर्ड टिकट बुकिंग की अनुमति नहीं है। इसी प्रकार टिकटों की करेन्ट, तत्काल एवं प्रीमियम तत्काल बुकिंग भी नहीं होगी। मार्ग में पड़ने वाले स्टेशनों हेतु बर्थ आरक्षण की व्यवस्था नियमित टाइम टेबुल्ड ट्रेन के अनुसार है। यदि किसी स्टेशन पर ठहराव नहीं है तो ऐसी दशा में बर्थ का कोटा पूर्व के स्टेशन को हस्तान्तरित हो जाता है।
गाड़ी के छूटने के 24 घण्टे पहले तक टिकटों का आन लाईन निरस्तीकरण किया जा सकेगा। कैन्सिलेशन चार्ज किराये का 50 प्रतिशत है। इस दौरान सभी प्रकार के टिकट काउन्टर बन्द रहेंगे। किराये में कोई कैटरिंग चार्ज सम्मिलित नहीं है। प्री-पेड मील बुकिंग तथा ई-कैटरिंग की सुविधा भी नहीं है। बहरहाल आईआरसीटीसी द्वारा सीमित मात्रा में खाने-पीने एवं बोतल बन्द पीने के पानी की व्यवस्था भुगतान के आधार पर करायी जा रही है, जिसका विवरण टिकट बुक करते समय उपलब्ध होगा। यात्रा के दौरान गाड़ियों में कम्बल तथा लिनेन की आपूर्ति नहीं होगी। अतः यात्रा हेतु खाने-पीने की सामग्री एवं आवष्यकतानुसार चादर इत्यादि अपने साथ लेकर चले।
यात्री कन्फर्म टिकट के साथ ही स्टेशन आएं। यात्री के साथ अन्य व्यक्ति को स्टेशन आने की अनुमति नहीं है। प्लेटफार्म टिकट जारी नहीं किये जा रहे है। गाड़ी छूटने के 90 मिनट से दो घंटे पूर्व यात्रीगण स्टेशन पहुँच जाय। यात्रियों की स्टेशन पर थर्मल स्क्रीनिंग की जायेगी, केवल लक्षण मुक्त यात्रियों को यात्रा करने की अनुमति होगी। सभी यात्री कम से कम सामान के साथ यात्रा करें।
सभी यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के साथ ही फेस मास्क लगाना अनिवार्य है। सभी यात्री अपने मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु एप डाउन लोड कर उसमें आवश्यक डाटा भरकर उपयोग करें।
ये 15 जोड़ी गाडियां पूर्वोत्तर रेलवे के किसी भी स्टेशन से होकर नहीं चलायी जा रही है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here