बागेश्वर। जिला सैनिक कल्याण बोर्ड के तत्वावधान में यहां शहीद सम्मान समारोह कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें जिले के 87 शहीद परिवार के लोगों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के दौरान कई सैन्य परिवार भावुक हो गए और उनकी आंखे नम हो गई। केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट, सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी, क्षेत्रीय विधायक चंदन राम दास ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

ऐतिहासिक नुमाईशखेत मैदान में गुरुवार को केंद्रीय मंत्री भट्ट ने कहा कि चार धाम के बाद प्रदेश में सैन्य धाम बनने जा रहा है। हर शहीद के घर मिट्टी लाई जा रही है। इसी उद्देश्य से शहीद सम्मान यात्रा निकाली जा रही है। इस यात्रा को सभी जगह सम्मान मिल रहा है। सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि दूसरे विश्व युद्ध में शहीद के वीरांगनाओं की पेंशन उनकी सरकार ने चार हजार से बढ़ाकर दस हजार किया। वन रैंक, वन पेंशन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने किया। उनके पद चिह्नों पर चलते हुए सैनिक पुत्र पुष्कर धामी की सरकार ने शहीदों को सम्मानित करने का निर्णय लिया है। जो देश की सीमा पर देश की रक्षा करते हुए शहीद होगा, उसके परिवार के एक व्यक्ति को उनकी सरकार सरकारी नौकरी देगी।

आईएमए, एनडीए की तैयारी करने वालों को उनकी सरकार कोचिंग के लिए 50 हजार देगी। क्षेत्रीय विधायक चंदन राम दास ने कहा कि जिले के 87 शहीद सैनिक परिवार को सम्मानित किया गया। उनके आंगन की मिट्टी को एकत्र कर सैन्य धाम निर्माण में लगाया जाएगा। इससे देश की सुरक्षा को और अधिक मजबूती मिलेगी। जिलाधिकारी विनीत कुमार ने बताया कि पांववे धाम के लिए सरकार ने जो बीड़ा उठाया है उसी के तहत जिले में यह कार्यक्रम आयोजित हुआ। जिला सैनिक कल्याण अधिकारी जीएस बिष्ट ने सभी के सहयोग के प्रति अभार जताया। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष बसंती देव, भाजपा जिलाध्यक्ष शिव सिंह बिष्ट, कपकोट के ब्लॉक प्रमुख गोविंद दानू, बागेश्वर की पुष्पा देवी, वृक्ष मित्र किशन मलड़ा, पुलिस अधीक्षक अमित श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।


👉👉  ताजा खबरों के लिए WhatsApp Group को जॉइन करें 👉 Click Now 👈

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here