क्रिएटिव न्यूज एक्सप्रेस ब्यूरो

किच्छा । मुख्यमंत्री आपदा राशन किट के वितरण में तहसील प्रशासन की कार्यप्रणाली को लेकर सवाल उठने लगे हैं । अगर आरोपों को सही माना जाए तो क्या राजनैतिक हस्तक्षेप के चलते पात्र व्यक्ति तक राहत सामग्री का लाभ नहीं मिल रहा है ? अब यह तो जांच का विषय है लेकिन आरोप लगने के बाद तहसील प्रशासन की कार्यप्रणाली संदेह के दायरे में नजर आ रही है। किच्छा के नई बस्ती में राशन वितरण में भेदभाव किए जाने का आरोप लगाते हुए वार्ड वासियों ने जमकर हंगामा किया। स्थानीय लोगों के विरोध के बाद तहसील प्रशासन की टीम राहत सामग्री लेकर वापस चली गई। गुस्साए वार्ड वासियों ने कांग्रेस नगर अध्यक्ष की अगुवाई में सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए तहसील परिसर में नारेबाजी कर जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान तहसील परिसर में कांग्रेसियों तथा महिलाओं ने तहसीलदार , लेखपाल व खाद्य पूर्ति निरीक्षक को जमकर खरी-खोटी सुनाते हुए सत्ता पक्ष के दबाव में काम करने का आरोप लगाया। कांग्रेसियों व स्थानीय लोगों के हंगामे के बाद तहसील प्रशासन की टीम खाद्य सामग्री लेकर वार्ड में पहुंची और दर्जनों लोगों को राहत सामग्री किट का वितरण किया। जानकारी के अनुसार नगर के नई बस्ती वार्ड 16 में तहसील प्रशासन की टीम सामग्री का वितरण कर रही थी । स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि प्रशासन की टीम द्वारा खाद्य विभाग द्वारा सत्यापित सूची में अंकित नाम के आधार पर किट का वितरण नहीं किया जा रहा है जबकि कुछ स्थानीय भाजपा नेताओं द्वारा जारी की गई पर्ची के आधार पर बिना जांच के ही अपात्र लोगों को राहत सामग्री दी जा रही है । मौके पर मौजूद सैकड़ों लोगों द्वारा हंगामा किए जाने के बाद प्रशासन की टीम खाद्य सामग्री लेकर वापस लौट गई । टीम के वापस जाने से गुस्साए दर्जनों लोग कांग्रेस नगर अध्यक्ष अरुण तनेजा तथा युवा कांग्रेसी नेता बंटी पपनेजा की अगुवाई में तहसील परिसर पहुंचे और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए तहसील में धरने पर बैठ गए। इस दौरान प्रदर्शन कर रहे स्थानीय लोगों ने तहसील प्रशासन पर सत्ता पक्ष के दबाव में काम करने तथा राशन कार्ड धारकों को राशन सामग्री देने का आरोप लगाते हुए जोरदार प्रदर्शन किया। काफी देर बाद पहुंचे तहसीलदार महेंद्र सिंह बिष्ट , लेखपाल अशोक कुमार तथा खाद्य पूर्ति अधिकारी को कांग्रेसियों व वार्ड वासियों ने जमकर खरी-खोटी सुनाई । कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता संजीव कुमार सिंह , नगर अध्यक्ष अरुण तनेजा ने कहा कि तहसील तथा खाद्य पूर्ति विभाग द्वारा 10 दिन पूर्व वार्ड का सर्वे कर 160 लोगों की सूची तैयार की गई थी परंतु सामग्री वितरण के दौरान सत्यापित सूची को दरकिनार कर एपीएल तथा बीपीएल कार्ड धारकों को राशन सामग्री वितरण करने का काम शुरू कर दिया गया । काफी देर चले हंगामे के बाद प्रदर्शनकारियों ने राहत सामग्री ना मिलने तक धरना प्रदर्शन जारी रखने की चेतावनी दी । चेतावनी के बाद तहसील प्रशासन की टीम नई बस्ती स्थित प्राइमरी स्कूल पहुंची और सूची में अंकित नामों के आधार पर पात्रों को राहत सामग्री का वितरण किया। पात्रों को राहत सामग्री वितरण किए जाने के बाद मामला शांत हुआ। इस मौके पर सभासद प्रतिनिधि जगरूप सिंह गोल्डी सहित दर्जनों लोग मौजूद थे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here