सांकेतिक तस्वीर

पटना| बिहार में लोहे के पुल और रेल इंजन के बाद अब मोबाइल टावर चोरी होने का मामला सामने आया है। घटना राजधानी पटना की है। चोरों ने जमीन मालिक से कहा कि कंपनी बंद हो गई है, इसलिए टावर हटा रहे हैं। इसके बाद चोर 3 दिन में सरेआम टावर का एक-एक हिस्सा खोलकर ले गए।

मोबाइल टावर GTPL कंपनी का है, जो पटना के गर्दनीबाग इलाके में लगा हुआ था। चोर यहां कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी बनकर आए थे। स्थानीय लोगों ने बताया कि चोर लगातार तीन दिन तक जिस रास्ते से टावर का एक-एक हिस्सा लेकर जा रहे थे, वहां से हम रोज गुजरते थे। हमें लगा वे कंपनी के लोग हैं, इसलिए कभी किसी ने टोका तक नहीं। अब पता चला कि वह चोर थे।

Advertisement

10 से ज्यादा संख्या में आए थे चोर

गर्दनीबाग में ललन सिंह की जमीन पर टावर लगा था। उनके पड़ोसी ने बताया कि चोरों ने कंपनी बंद होने का हवाला देकर टावर हटाने की बात कही थी। इसके बाद ललन सिंह को भी लगा कि उनकी जमीन खाली हो जाएगी। वो भी टावर हटाने पर सहमत हो गए। इसके बाद 10 चोर लगातार 3 दिन तक 50 मीटर का टावर गैस कटर से काटकर टुकड़ों-टुकड़ों में पिकअप वैन पर समेट ले गए।

हल्द्वानी : रहस्यमयी आग वाले घर में निरीक्षण को पहुंचे कमिश्नर दीपक रावत

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here