अल्मोड़ाउत्तराखंड

ALMORA NEWS: बेस अस्पताल में अब आम मरीजों को राहत, कोरोना के कारण गिरी ओपीडी में आया उछाल, पीएमएस के प्रयासों से मिलने लगी सभी सुविधाएं

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा
पिछले महीनों में कोविड सेंटर होने के कारण बेस अस्पताल अल्मोड़ा से आम मरीजों की दूरी बढ़ गई थी, इससे अस्पताल में कोविड के मरीजों के अतिरिक्त आम मरीजों की ओपीडी मेंं काफी गिरावट आ गई थी। मगर गत एक फरवरी से बेस अस्पताल आम मरीजों के लिए पूरी तरह खुल गया, तो ओपीडी में उछाल आने लगा है। एक माह से पूर्व ही अस्पताल में ओपीडी मरीजों की संख्या प्रतिदिन डेढ़ सौ पार हो गई है।
कोरोनाकाल शुरू होने के बाद से कोविड सेंटर बने अल्मोड़ा बेस अस्पताल में कोविड मरीजों के अतिरिक्त अन्य ओपीडी व भर्ती मरीजों के इलाज का ग्राफ काफी गिर गया था, क्योंकि पिछले माहों में बेस अस्पताल में लगातार कोविड—19 के मरीजों का उपचार चलता रहा। कोविड संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए अन्य ओपीडी मरीजों को दूर रखना एहतियातन जरूरी हो गया था। इसके अलावा कोविड मरीज होने की वजह से पिछले माहों में आम मरीजों ने खुद भी संक्रमण के भय से बेस अस्पताल से दूरी सी बना ली थी। इस कारण स्वाभाविक तौर से उक्त ग्राफ गिरावट दर्ज हुई। मगर अब हालात सामान्य से होने के बाद बेस अस्पताल में कोविड से पूर्व की स्थिति बहाल होने लगी है।
बेस अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. एचसी गढ़कोटी के प्रयासों से अस्पताल में पैथोलॉजी जांचें, अल्ट्रासाउंड, सिटी स्केन, एक्स—रे आदि की सुविधाएं आम मरीजों को पूर्व की भांति से मिलने लगी हैं। इसके अलावा हर विभाग के डाक्टर्स व स्टाफ आम मरीजों को बराबर सेवाएं देने लगे हैं। मरीजों की भीड़ भी बेस अस्पताल में बढ़ने लगी हैं। गत एक फरवरी से पूर्व तक कोरोनाकाल के चलते बेस अस्पताल में सामान्य ओपीडी मरीजों की संख्या 40 से 60 मरीजों के बीच रहती थी। लेकिन एक फरवरी से बेस अस्पताल आम मरीजों के लिए पूरी तरह खुला। अभी एक माह भी पूरा नहीं हुआ और बेस अस्पताल की ओपीडी में जबर्दस्त उछाल आया है। इस बीच ओपीडी मरीजों की संख्या बढ़कर प्रतिदिन डेढ़ सौ पार हो गई है। इससे लोगों को राहत मिली है। अस्पताल के पीएमएस डा. एचसी गढ़कोटी ने बताया कि पहली फरवरी से आम मरीजों के लिए अस्पताल पूरी तरह खोल दिया गया है और पिछले महीनों की तुलना में अब प्रतिदिन डेढ़ सौ से अधिक मरीज ओपीडी में उपचार कराने आ रहे हैं और जल्द ही यह संख्या और बढ़ने की उम्मीद है।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!