NAINITAL NEWS: आरोप से घिरे विधायक महेश नेगी को हाईकोर्ट से फिर मिली राहत, राज्य सरकार से तीन सप्ताह के भीतर मांगा जवाब

9

📰 खबरों के लिए जुड़े व्हाट्सप्प ग्रुप से 👉 Click Now 👈

सीएनई रिपोर्टर, नैनीताल
आरोप से घिरे द्वाराहाट के विधायक महेश नेगी को डीएनए जांच के मामले मेंं उत्तराखंड उच्च न्यायालय से बड़ी राहत मिली है। मामले पर हाईकोर्ट ने निचली अदालत के फैसले पर पूर्व में लगी रोक को बरकरार रखा है और राज्य सरकार से तीन सप्ताह के भीतर जवाब तलब करते हुए अगली सुनवाई 27 अप्रैल को नियत कर दी। गौरतलब है कि महेश नेगी पर एक महिला ने अपनी बच्ची के पिता होने का आरोप लगाया है।

उत्तराखंड कोरोना अपडेट : राज्य में 1100 से ऊपर नए मरीज, पांच की मौत

उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति रमेश चंद्र खुल्बे की एकलपीठ में विधायक नेगी की याचिका पर सुनवाई हुई। ज्ञात रहे कि श्री नेगी ने देहरादून के सीजेएम कोर्ट के उस आदेश को चुनौती दी है, जिसमें उन्हें डीएनए सैंपल देने के लिए कोर्ट में पेश होने व सीएमओ को सैंपल लेने के लिए बुलाने का आदेश पारित किया था। उच्च न्यायालय ने 11 जनवरी को सीजेएम कोर्ट के इस आदेश पर रोक लगा दी थी। याचिकाकर्ता ने अदालत को बताया कि शिकायतकर्ता ने शामली के जिस चिकित्सक की डीएनए टेस्ट रिपोर्ट का जिक्र किया है, वह फर्जी है। इस मामले में स्वयं चिकित्सक ने विवेचक को बयान दिया है कि उनके यहां किसी का डीएनए सैंपल नहीं लिया गया। डीएनए की जांच बिना अदालत के आदेश के नहीं हो सकती।

Accident : अल्मोड़ा—हल्द्वानी एनएच पर पिकअप से जा भिड़ा डम्पर, चालक गम्भीर, हल्द्वानी रेफर

लिहाजा पीड़िता ने अदालत में जो डीएनए रिपोर्ट दाखिल की है, वह फर्जी है और उन्हें ब्लैकमेल करने के लिए फर्जी तरीके से तैयार की गई है। एकलपीठ ने मामले को सुनने के बाद निचली कोर्ट के आदेश पर रोक बरकरार रखते हुए अगली सुनवाई 27 अप्रैल को नियत कर दी। साथ ही सरकार को मामले में तीन सप्ताह में जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया।

अल्मोड़ा में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, 15 की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, एक्टिव केस 41, बाहरी जनपदों से आए 11 लोग भी पाये गये संक्रमित

Previous articleNAINITAL NEWS: ज्योलीकोट के दिव्यांग युवक ने ड्रीम-11 में जीते ढाई लाख रुपये
Next articleALMORA NEWS: ग्यारह सूत्रीय मांगों को लेकर सफाई कर्मियों ने बुलंद की आवाज, धरना-प्रदर्शन कर जताया आक्रोश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here