बागेश्वर न्यूज : जानवर तस्करों के हवाले, जंगल आग के

4

📰 खबरों के लिए जुड़े व्हाट्सप्प ग्रुप से 👉 Click Now 👈

बागेश्वर। जंगल धू-धू कर जल रहे हैं, जानवर वन तस्करो के हाथो मारे जा रहें है।वन विभाग बेपरवाह बन बस तमाशा देख रहा है। आग से वन संपदा के साथ ही पर्यावरण को भी खास नुकसान पहुंच रहा है। साथ ही उठने वाले धुंए से लोगों की मुश्किलें बढ़ रही है । विभाग के पास आग बुझाने की रणनीति सिर्फ फायर सीजन में ही रहती है, अक्तूबर में जंगल धू-धू कर जल रहे हैं।

जिन्हें बुझाने की कोशिश दिख नहीं रही है। अभी कुछ समय पहले मनकोट के पास छतीना के जंगल जल रहें थे और बाद में काफी जंगल जलने के बाद आग अपने आप बुझ गई थी। वहीं आज सुबह से अब तक कुकड़ा माई मंदिर वाली पहाड़ी के जंगल धू धू कर जल रहें है। लेकिन विभाग की ओर से कोई सुध नहीं ली जा रही है। जंगल बागेश्वर रेंज में आते हैं। इस बीच ग्रामीण अपने कार्यों में व्यस्त हैं। बावजूद इसके शिकायत करने के बाद भी वन विभाग इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है।


वहीं वन विभाग की कार्यशैली पर सवालिया निशान उठना लाजमी है। कल ही बागेश्वर पुलिस ने इंटरनेशनल मार्केट में एक करोड़ की अनुमानित राशि की भालू की पित्त और कस्तूरी मृग की कस्तूरी बरामद की है। जंगल और जानवर वन विभाग की सम्पदा हैं। जंगल जल रहें है और जानवरों के बॉडी पार्टस तस्करों की गाड़ियों में मिल रहें है। तो क्या वाकई वन विभाग बागेश्वर अपना काम कर रहा है।

Previous articleसोमेश्वर न्यूज: किसानों की तकदीर बदलेगा कृषि विधेयक—रेखा, विपक्ष पर भ्रम फैलाकर विरोध को जन्म देने का आरोप
Next articleकाशीपुर क्राइम : पूर्व प्रधान ने दी वर्तमान प्रधान की सुपारी, पाठल लेकर काटने पहुंचा सुपारी किलर!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here