उत्तराखंडदेहरादूननैनीतालब्रेकिंग न्यूजराजनीति

ब्रेकिंग न्यूज : भगत ने कहा झूठी तो भड़कीं इंदिरा, बोलीं— पचास साल की विधायी जीवन में पहली बार सुनी ऐसी बात

हल्द्वानी। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वंशीधर भगत द्वारा नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश को झूठी कहने पर डा.हदयेश भड़क गई है। उन्होंने बाकायदा प्रेस नोट जारी करके अपनी नाराजगी सार्वजनिक की है। उन्होंने कहा है कि अपने पचास साल के विधायी जीवन में उन्होंने ऐसी बातें पहली बार सुनी हैं। इस बयान में वे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के प्रति तो नरम नजर आई हैं लेकिन भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और कालाढूंगी के विधायक वंशीधर भगत को उन्होंने अच्छी तरह से आड़े हाथों लिया है।
इंदिरा ने कहा है कि भगत द्वारा उन्हें झूठा कहे जाने पर उन्हें गहरा आघात पहुंचा है। उन्होंने कहा है कि यह समय कोरोना संक्रमण से लड़ने का है न कि आरोप प्रत्यारोप की राजनीति करने का। विपक्ष सत्ताधारी दल के साथ किस प्रकार सहोग कर रहा है यह बताते हुए उन्होंने कहा कि कार्य मंत्रणा समिति की बैठक में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह और उन्होंने सरकार के बजट प्रस्ताव के सभी मदों को ध्वनिमत से स्वीकार करके इस कठिन समय में सरकार का सबसे बड़ा साथ दिया। इसके अलावा वे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से लगातार फोन पर वार्ता करके उन्हें सुझाव भी देती हैं और सीएम उनके सुझावों पर अमल करने का अश्वासन भी देते हैं। उनके कई सुझावों पर अमल भी सरकार ने किया। यह समय राजनैतिक श्रेय लूटने का नहीं है। इस काल में सभी को एक दूसरे के सहयोग से कोरोना संक्रमण पर जीत हासिल करने का प्रयास करना चाहिए।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद सदन में अपने पहले ही संबोधन में त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा था कि डा. इंदिरा हृदयेश सदन में सबसी अनुभवी नेता है। उनसे सीखने की आवश्यकता है लड़ने की नहीं। इंदिरा के अनुसार सीएम इस बात पर अमल भी करते हैं।
उन्होंने भगत को नसीहत दी कि झूठा शब्द सदन में असंसदीय माना गया है। यह बात विधायक होने के नाते भगत भी जानते है। उन्होंने कहा कि भगत की यह बात उन्हें बुरी लगी है। उन्होंने भगत से कहा है कि जब भी सीएम से बात करेंगी तो भगत या उनके प्रतिनिधि उनके साथ आए और उन्हें पता चल जाएगा कि सीएम से उन्होंने क्या बात की।

Leave a Comment!