उत्तराखंडनैनीताल

रामनगर न्यूज़ : आजादी के गीतों के साथ मनाया गया भगतसिंह का जन्मदिन

रामनगर। शहीद-ए-आजम भगतसिंह को आज उनके जन्मदिन पर आजादी के गीतों व भगतसिंह के लिखे लेख पढ़ कर याद किया गया। रचनात्मक शिक्षक मण्डल की पहल पर वन चौकी पूर्वी सांवलदे व भगतपुर तड़ियाल, हाथीडगर में मुख्य कार्यक्रम हुए। कार्यक्रम की शुरुआत भगतसिंह के चित्र पर माल्यार्पण से हुई। उसके बाद यू के जेमर्स के तुषार बिष्ट, नीरज चौहान, आभा बिष्ट ने, हम हैं इसके मालिक हिंदुस्तान हमारा, मेरा रंग दे बसंती चोला, सरफरोशी की तमन्ना जैसे देशभक्ति गीत गाए। प्रतिभागी बच्चों ने भगतसिंह के जीवन के विभिन्न पक्षों पर विस्तार से प्रकाश डाला।

शिक्षक मण्डल संयोजक नवेंदु मठपाल ने कहा भगतसिंह मात्र 18 वर्ष की उम्र में 1925 में लाहौर में गठित नोजवान भारत सभा के महासचिव बने और 23 मार्च 1931 को करीब 2 बर्ष जेल में गुजरने के बाद अपने साथियों राजगुरु औऱ सुखदेव के साथ फांसी के तख्ते पर चढ़ गए। मृत्यु के समय उनकी उम्र सिर्फ 23 वर्ष थी। इस छोटे से कार्यकाल में ओर इतनी कम उम्र में राष्ट्रीय स्तर और क्रांतिकारी गतिविधियां संगठित करने के साथ-साथ उन्होंने तमाम विषयों पर इतना कुछ पढ़ा व लिखा जो उनकी समाज के प्रति वैज्ञानिक यथार्थवादी समझ से ही सम्भव हो पाया।

संचालन करते हुए जितेंद्र कुमार ने कहा की साम्राज्यवाद विरोधी संघर्ष के महान योद्धाओं भगतसिंह ओर उनकें बलिदानी साथियों की स्मृतियां तथा उनके विचार हमारे युग के नौजवानों के लिए प्रेरणा पुंज ओर मार्गदर्शक हैं। प्रतिभागी बच्चों द्वारा भगतसिंह का चित्र बनाने के साथ साथ उनकें लिखे लेखों व असेम्बली में फेंके गए पर्चे का भी वाचन किया गया।

भगतपुर तड़ियाल, हाथीडगर में भी रंगारंग कार्यक्रमों के साथ भगतसिंह को उनके जन्मदिन पर याद किया गया। इस मौके पर शराफत शाह, प्रेमराज, तारा बेलवाल, कमल रावत, ग्राम प्रधान गंगा गिरी, पूरन गिरी ग्राम प्रधान जगदीश बनकोटी, इंदर लाल दीपक बेलवाल, पनिराम नेक सिंह, गोपाल राम, हंसी देवी व रेखा देवी मौजूद रहे।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!