सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा

कल 01 जुलाई, शुक्रवार से सभी सरकारी राशन की दुकानों में बायोमीट्रिक खाद्यान्न वितरण नहीं किया जायेगा। पर्वतीय सरकारी सस्ता गल्ला विक्रता संघ की बैठक में लंबित मांगों का निराकरण नहीं किये जाने पर यह बड़ा फैसला लिया गया है।

पर्वतीय सरकारी सस्ता गल्ला विक्रेता संघ की बैठक यहां हुई बैठक में पदाधिकारियों ने समस्त विक्रेताओं को गत 27 जून को पिथौरागढ़ में हुई कुमाऊं मंडल स्तरीय संयुक्त बैठक की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बैठक में निर्णय लिया गया है कि जब तक चारों जनपदो में प्रत्येक गोदाम में धर्मकांटा नहीं लग जाता तथा नेट खर्च व दुकान के किराये के साथ मानदेय नहीं दिया जाता है तब तक कोई भी विक्रेता 01 जुलाई, 2022 से बायोमेट्रिक राशन का वितरण नहीं करेगा। इस प्रस्ताव का सभी विक्रेताओं ने समर्थन किया।


बैठक में विभाग को चेतावनी दी गयी कि यदि इस संबंध में विभाग द्वारा किसी विक्रेता के विरुद्ध कोई कार्यवाई की गयी तो सभी बिक्रेता सामूहिक त्यागपत्र दे देगें तथा विभाग के विरुद्ध आंदोलन करेंगे।

बैठक में रानीखेत, बाड़ेछीना, लमगड़ा, जैंती, सोमेश्वर, सोनी इत्यादि क्षेत्र के प्रतिनिधी शामिल थे। बैठक की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष संजय साह तथा संचालन केसर सिंह ने किया। बैठक में प्रदेश अध्यक्ष मनोज वर्मा, प्रदेश संयोजक अभय साह, दिनेश गोयल, नगर अध्यक्ष भूपाल सिह परिहार, लक्ष्मीदत्त भट्ट, आनन्द सिंह बिष्ट, चंदन सिंह, राजेन्द्र सिंह, इन्दर सिंह, प्रकाश भट्ट, रमेश भाकूनी, भूपाल सिंह, तार सिंह (सोनी), धरम सिंह लटवाल, देवेन्द्र सिंह चौहान, सुदेश सांगा, हेमा देवी, पान सिंह सांगा, नारायण सिंह, पूरन मेहरा, गोविंद सिंह, चंदन सिंह, धन सिंह लटवाल, पूरन सिंह नेगी, नरेन्द्र सिंह, प्रताप सिंह, परमादेवी, शोबन सिंह, विपिन तिवारी, विपिन पंत, सदानंद सिंह, जयमल सिंह, लक्ष्मण सिंह के अलावा तमाम विक्रेता उपस्थित थे।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here