Big Breaking Haldwani : पैराग्लाइडिंग के दौरान हुआ बड़ा हादसा, तेज हवाओं से बिगड़ा संतुलन, पेड़ पर अटकी महिला सैलानी, सकते में आ गयी जान, पढ़िये पूरी ख़बर…..

822

सीएनई रिपोर्टर, भीमताल
पैराग्लाइडिंग का शौक बेहद रोमांचकारी होता है, लेकिन इसमें कुछ खतरे भी रहते हैं। देश में कई लोग इस दौरान हुए हादसों में अपनी जान गंवा चुके हैं। ऐसा ही आज कुछ हो गया नौकुचियाताल में जहां, एक महिला सुरक्षित जमीन पर लैंड करने के बाजए अपने पायलट के साथ पेड़ पर अटक गई। इस महिला सैलानी की जान बड़े संकट में आ गई थी, लेकिन संयोग से एक बड़ा हादसा होते—होते टल गया।

दिल्ली है दिलवालों की ! आज रात 10 बजे से लागू हो जायेगा कम्पलीट लॉकडाउन ! अब क्या खायेंगे, कहां जायेंगे प्रवासी, बता तो दे दिल्ली और केंद्र सरकार ?

मिली जानकारी के अनुसार नौकुचियाताल क्षेत्र में आज एक पैराग्लाइडिंग का पैराशूट पेड़ में लटक गया। इससे उसमें पैराग्लाइडिंग कर रही मुम्बई की महिला सैलानी व पायलट फंस गये। करीब दो घंटे की हाय—तौबाई के बाद पुलिस ने स्थानीय लोगों व पैराग्लाइडिंग संचालकों की मदद से रस्सियों के सहारे सैलानी व पायलट को पेड़ से उतारा। तब जाकर कहीं पुलिस व लोगों ने राहत की सांस ली। सैलानी पूरी तरह सुरक्षित है और उसे कोई चोट नहीं पहुंची है। सैलानी ने पुलिस को किसी के खिलाफ कोई कार्यवाही न करने संबंधी लिखित में दिया है। इसके लिए सैलानी दम्पति ने पुलिस व लोगों का आभार भी प्रकट किया।

🔥 सीएनई के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

Big News : 01 मई से 18 से ऊपर आयु वर्ग के सभी लोगों को लगेगी कोरोना वैक्सीन

बताया जा रहा है कि हवा के चलते पैराग्लाइडिंग संचालकों द्वारा उड़ान भरने से मना कर दिया था, लेकिन सैलानी ने पैराग्लाइडिंग के लिए जिद की गयी। एसओ रमेश बोहरा ने बताया कि सोमवार की अपराह्न में 264-कम्पाट अमृतवार मुम्बई निवासी रोहिल वेद अपनी पत्नी कुनाल राज के साथ नौकुचियाताल पहुंचे, जहां उनकी पत्नी कुनाल ने पैराग्लाइडिंग करने की इच्छा जाहिर की। पैराग्लाइडिंग के उड़ान भरने के बाद विपरीत दिशा से तेज हवा चलनी शुरू हो गयी।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव, अस्पताल भर्ती

पायलट ने पैराग्लाइडिंग को उतारने की काफी कोशिश की, लेकिन विपरीत दिशा से तेज हवा के चलते पैराशूट एक लंबे सूरई के पेड़ में अटक गया। इस घटना के बाद पैराग्लाइडिंग संचालकों की सांस फुल गयी। स्थानीय लोगों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। सिपाही सुमित चौधरी ने स्थानीय लोगों की मदद से सैलानी को रस्सियों की मदद से करीब दो घंटे की मसक्कत के बाद सुरक्षित नीचे उतारा। ग्रामीणों ने पेड़ के नीचे चारों ओर सुरक्षा के चलते कई बोरे भूसा के भी रख दिये, ताकि नीचे गिरने से कोई चोट न पहुंच पाये। अलबत्ता अब यह महिला सैलानी सुरक्षित है और ईश्वर का धन्यवाद अदा कर रही है।

Big Breaking : उत्तराखंड में कोरोना का बढ़ रहा प्रकोप, 24 की चली गई जान, 2 हजार 160 नए केस

कोरोना के बढ़ते मामलों पर कोर्ट ने उप्र. सरकार को दिए 26 अप्रैल तक लॉकडाउन के आदेश

बागेश्वर : देवता का समझते रहे प्रकोप और बीमारी ने ले ली जान, अस्पताल में महिला की मौत

ब्रेकिंग : दिल्ली में कोरोना के 25 हजार से अधिक नए मामले, 161 की मौत

नैनीताल जिले में आने वाले प्रवासियों को होम क्वारंटाइन अनिवार्य, जारी हुए नए आदेश

उत्तराखंड, कोरोना का सितम : मां की मौत का मना रहे थे मातम, बेटा भी चल बसा, परिवार के अन्य सदस्य भी संक्रमण की चपेट में

Previous articleदिल्ली है दिलवालों की ! आज रात 10 बजे से लागू हो जायेगा कम्पलीट लॉकडाउन ! अब क्या खायेंगे, कहां जायेंगे प्रवासी, बता तो दे दिल्ली और केंद्र सरकार ?
Next articleCNE NEWS HALDWANI : रैमडेसिविर दवा ​का इस्तेमाल सिर्फ कोविड मरीजों के लिए, इतनी हाय—तौबा न करे जनता : सीएमओ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here