Wednesday, June 29, 2022

व्यंग्य लघु कथा : जंगल राज में किसी ने कुछ नहीं देखा

0
कृष्णा कुमार, तलवंडी, राजस्थान एक दिन जंगल में मंकू सियार की बेटी नूरी नदी पर जल भरने जा रही थी। रास्ते में उसे कालू भेड़िया छेड़ने लगा। उसने आनाकानी की, चीखी-चिल्लाई, लेकिन किसी ने एक...

कविता – महंगाई ने तोड़ी सबकी कमर

0
महंगाई ने तोड़ी सबकी कमर है,जनता बेचारी फिर परेशान हैं,महंगाई ने छुआ आसमान को है,फिर गरीब जनता के बुरे हाल है,गैस सिलेंडर की किमत हजार के पार है, महंगाई ने किया जनता का बुरा हाल...
error: Content is protected !!