उत्तराखंडनैनीताल

नैनीताल न्यूज़ : मेट्रोपोल में बनेगी शहर की नई पार्किंग

फाइल फोटो

नैनीताल। दुनिया भर के पर्यटकों के लिए सरोवर नगरी नैनीताल आकर्षण का केन्द्र रही है। सीजन के अलावा देश-दुनिया के सैलानियों की यहां बड़ी तादाद में आमद होती है। पर्यटकों की आमद से नैनीताल शहर में पार्किंग की समस्या विकराल रूप ले लेती है। फ्लैट्स मैदान में डीएसए पार्किंग खचाखच हो जाने के बाद प्रशासन द्वारा वैकल्पिक व्यवस्था कर पार्किंग की व्यवस्था शहर से दूर करायी जाती है। वाहनों की सुव्यवस्थित पार्किंग के लिए जिलाधिकारी सविन बंसल प्रयत्नशील रहे हैं। उन्होंने मेट्रोपोल में पार्किंग की संभावनाऐं तलाश करते हुए इस शत्रु सम्पत्ति के बेहतर उपयोग हेतु सम्पत्ति पर जिला प्रशासन द्वारा स्थायी प्रकृति के निर्माण कार्य का प्रस्ताव प्रदेश एवं भारत सरकार को भेजा था। 👉 व्हाट्सएप ग्रुप click now 👈

जिलाधिकारी के प्रस्ताव पर शत्रु सम्पत्ति के कस्टोडियन गृह मंत्रालय भारत सरकार ने शत्रु सम्पत्ति परिसर की वाहन पार्किंग, सम्पत्ति की अभिरक्षा तथा नियंत्रण के लिए स्थायी प्रकृति के निर्माण कार्यों की अनुमति प्रदान की है। जिलाधिकारी बंसल के विशेष प्रयासों से प्रथम बार ऐंसा हुआ कि गृह मंत्रालय द्वारा शत्रु सम्पत्ति के डिप्टी कस्टोडियन को सम्पत्ति पर स्थायी प्रकृति के निर्माण का अधिकार सौंपा गया है। बंसल खूबसुरत झीलों एवं मनमोहक वादियों से घिरी सरोवर नगरी को पर्यटन सीजन में वाहनों से लगने वाले जाम से निजात दिलाने की दिशा में लगातार कार्य कर रहे हैं। जिलाधिकारी बंसल ने गुजरे समय में मेट्रोपोल शत्रु सम्पत्ति का प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मौका मुआयना किया था, उन्होंने पाया कि इस शत्रु सम्पत्ति एवं इसके परिसर का जनहित में बेहतर ढंग से पार्किंग के लिए उपयोग किया जा सकता है।

इससे शहर की सड़कों व सार्वजनिक स्थानों पर वाहनों के दबाव को कम किया जा सकता है तथा जाम से भी मुक्ति मिल सकती है। जिलाधिकारी ने जनहित को दृष्टिगत रखते हुए जिला योजना से कार्यदायी संस्था लोनिवि को 4200000 (बयालीस लाख) रूपये की धनराशि स्वीकृत की है। स्वीकृत धनराशि से लोनिवि द्वारा मेट्रोपोल परिसर में समतलीकरण, नाली निर्माण एवं वायर फेंसिंग एवं सुरक्षा दीवार का निर्माण कार्य किया जायेगा। जिलाधिकारी के विशेष प्रयासों से पार्किंग बनेगी, इससे पूर्व कभी भी शत्रु सम्पत्ति पर स्थायी प्रकृति के निर्माण कार्य कभी नहीं हुए थे।

उन्होंने लोनिवि के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे उपलब्ध धनराशि का समय से उपयोग करें। उन्होंने कहा कि निर्गत धनराशि से तय समय-सीमा के भीतर गुणवत्तायुक्त कार्य करायें तथा इस कार्य को प्राथमिकता में शामिल करते हुए पार्किंग से सम्बन्धित सभी निर्माण कार्यों को पूरा कर लें ताकि पर्यटकों की आमद होने पर उनके वाहनों को मैट्रोपोल पार्किंग में रखा जा सके। बंसल ने बताया कि मेट्रोपोल पार्किंग स्थल की भूमि का अधिक से अधिक उपयोग पार्किंग के रूप में किया जायेगा, 👉 व्हाट्सएप ग्रुप click now 👈

जिससे पार्किंग क्षमता में बढ़ोत्तरी होगी और शहर की सड़कों से वाहनों का दबाव कम होगा और अनावश्यक लगने वाले जाम से भी निजात मिलेगी। उन्होंने बताया कि मेट्रोपोल पार्किंग स्थल को हाईटैक पार्किंग स्थल के रूप में विकसित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि पार्किंग स्थल मं ज़ूम इन जूम आउट बेरियर, सीसीटीवी कैमरे, पार्किंग स्थल का सौन्दर्यकरण, व्यवस्थित निकासी व प्रवेश द्वार के साथ ही महिला एवं पुरूषों के लिए अलग-अलग शौचालयों की भी सुविधा होगी। 👉 व्हाट्सएप ग्रुप click now 👈

Leave a Comment!

error: Content is protected !!