उत्तराखंडनैनीताल

नैनीताल न्यूज : डीएम बंसल के प्रयास ला रहे रंग, सरकारी हास्पिटलों में दो से तीन गुना हो गए मरीज

फाइल फोटो

नैनीताल। विकास के साथ ही स्वास्थ्य को विशेष तरजीह देने वाले युवा जिलाधिकारी सविन बंसल का मानना है कि स्वस्थ्य व्यक्ति ही समाज व राष्ट्र के निमार्ण मे अहम भूमिका निभा सकता है। उनकी सोच है कि स्वस्थ्य मां एवं बच्चा भी राष्ट्र निर्माण के आधार स्तम्भ है, लिहाजा बंसल ने अल्पकाल मे जिले के सरकारी अस्पतालों की दशा एवं दिशा बदलकर रख दी। जिसका नतीजा यह हुआ कि सरकारी अस्पतालों के प्रति आम एवं गरीब आदमी का रूझान एवं विश्वास बढा है इन अस्पतालों मे प्रतिदिन ओपीडी में दोगुने से तीनगुने तक मरीजों की संख्या मे इजाफा हुआ है।

सरोवर नगरी में 126 वर्ष पूर्व 17 अक्टूबर 1894 को समाजसेवी स्व. पं. बद्री दत्त पाण्डे की स्मृति में बीडी पाण्डे चिकित्सालय की स्थापना हुई थी। यह चिकित्सालय नैनीताल के अलावा आसपास के पर्वतीय इलाकों के लोगों के इलाज के लिए एक आदर्श चिकित्सालय के रूप मे कार्यरत रहा। बदलते दौर मे स्वास्थ्य सेवाओं एवं चिकित्सालयों संख्याओं मे वृद्धि के चलते बीडी पाण्डे में धीरे-धीरे संसाधनों एवं आधुनिक उपकरणों की कमी होती गई। जिससे इस एतिहासिक चिकित्सालय मे मरीजों की संख्या घटती गई। स्वास्थ्य के प्रति संवेदनशील जिलाधिकारी बंसल ने काफी अध्ययन व चिंतन के उपरान्त इस ऐतिहासिक चिकित्सालय की दशा एवं दिशा सुधारने की दिशा मे कदम बढाये। उन्होंने बीडी पाण्डे चिकित्सालय को विभिन्न मदों से 1 करोड 27 लाख की धनराशि चिकित्सालय प्रबंधन को आधुनिकतम उपकरणों तथा चिकित्सालय की साजसज्जा, शौचालय, सीवरेज व्यवस्था,एक्सरे व अल्ट्रासाउन्ड मशीन, जनरेटर व अन्य अवस्थापना सुविधाओं के लिए निर्गत की।

बंसल के प्रयासों से वर्तमान मे बीडी अस्पताल मे चार बैड का आईसीयू संचालित है तथा चिकित्सालय मे चार वैंटिलेटर भी उपलब्ध है। जिलाधिकारी बंसल ने ग्रामीण निर्माण विभाग को जीर्णशीर्ण शौचालयों की मरम्मत, चिकित्सालय के पैसेज के ऊपर शैड निर्माण, आवासों मे क्षतिग्रस्त शौचालय, सम्पूर्ण चिकित्सालय मे आक्सीजन पाइप लाइन एवं प्लांट निर्माण हेतु 84.36 लाख की धनराशि निर्गत की। इसी प्रकार जलसंस्थान को जीर्णशीर्ण सीवर लाइन, नर्सिग हास्टिल मे सीवर लाइन बिछाने के लिए 6.13 लाख की धनराशि निर्गत की। श्री बंसल ने एसडीआरएफ से आईसीयू वार्ड निमार्ण,आईसीयू वार्ड मे एसी व स्टेपलाइजर व्यवस्था हेतु 4.05 लाख की धनराशि उपलब्ध करायी। उन्होने मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना से चिकित्सालय हेतु जनरेटर, एक्सरे मशीन, सीआरएम मशीन आदि की व्यवस्था के लिए 30.68 लाख की धनराशि निर्गत की।

इसी प्रकार श्री बंसल ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से चिकित्सालय मेें आक्सीजन पाइप लाइन के निर्माण एवं अल्टासाउन्ड कक्ष मे एसी लगाने हेतु 50.55 लाख की धनराशि के साथ ही जिला योजना से अल्ट्रासाउन्ड मशीन क्रय करने की स्वीकृति भी दी हैै। जिलाधिकारी के प्रयासों से सरोवर नगरी का बीडी पाण्डे चिकित्सालय हाईटैक हो गया है, पहले की तुलना मे आज की तारीख मे लगभग प्रतिदिन 400 मरीज अपने ईलाज के लिए बीडी पाण्डे अस्पताल की तरफ रूख कर रहे है। श्री बंसल के प्रयासो से बीडी पाण्डे चिकित्सालय मे आशाघर भी स्थापित किया है जिससे आशा कार्यकत्रियों को काफी सुविधा हुई है। इसके साथ ही मरीजों व तीमारदारों को गुणवत्तायुक्त, पौष्टिक एवं ताजा भोजन के लिए व्यवस्था बनाई गई हे।

कैन्टीन के भोजन की गुणवत्ता का प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा समय-समय पर निरीक्षण किया जाता है। जिलाधिकारी के स्पष्ट आदेशों के चलते चिकित्सकों द्वारा वहां से मरीजो को रैफर करने का कार्य लगभग बन्द कर दिया है, गम्भीर मरीजों को ही अब रैफर किया जाता है तथा रैफर करने का कारण भी पंजिका में स्पष्ट अंकित किया जाता है। चिकित्सालय में बडी हुई अवस्थापना सुविधाओं के चलते चिकित्सकों मे भी आत्मविश्वास एवं सम्र्पण भाव से कार्य करने का जज्बा भी जागा है, कुल मिलाकर जिलाधिकारी बंसल की इस पहल को जनमानस के बीच काफी लोकप्रियता मिली है।
बीडी पाण्डे चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्साधीक्षक डा. केएस धामी ने कहा कि

जिलाधिकारी बंसल ने जिस तनमयता एवं तत्परता से इस चिकित्सालय की दशा बदली है वह निश्चय ही हम सभी के लिए प्रेरणादायक है। उन्होने बताया कि पहले ओपीडी मे प्रतिदिन 150 मरीज ही आते थे जो आज बढकर लगभग 400 मरीजों की संख्या बढ गई हैै। गौरतलब है कि बीते शनिवार स्वाधीनता दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी श्री बंसल ने बीडी पाण्डे चिकित्सालय में सुदृढरीकरण एवं सुसज्जिकरण के तहत स्थापित किये गये फ्लूक्लिनिक, डिजिटल एक्सरे मशीन, नवनिर्मित शौचालयों तथा जनरेटर आदि का रिबन काटकर लोकार्पण। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि मरीजो को बेहतर सुविधायें देने के लिए प्रशासन तत्पर है।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!