अल्मोड़ाउत्तराखंड

अल्मोड़ा न्यूज: हाथरस कांड के विरोध में कांग्रेस ने किया मौन सत्याग्रह, दोषियों के लिए मांगा कठोर दंड

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा
हाथरस में युवती से बलात्कार व हत्या की घटना के विरोध में यहां सोमवार को कांग्रेसजनों ने मौन सत्याग्रह किया। मौन सत्याग्रह के बाद कांग्रेस नेताओं ने कहा कि देश में महिलाओं के साथ अमानवीय व्यवहार, हिंसा व उत्पीड़न की घटनाएं बढ़ते चले जा रही हैं, जो बेहद चिंताजनक है। उन्होंने हाथरस में गैंगरेप के मामले में अपराधियों को कठोर दंड देने की पुरजोर मांग उठाई।
कांग्रेस नेताओं ने कहा कि हाथरस में इतना बड़ा कांड उत्तर प्रदेश सरकार और पुलिस की नाकामी है। यदि सरकार व पुलिस मुस्तैद होती, तो ऐसी घटनाओं को रोका जा सकता था। उन्होंने कहा कि ऐसी अमानवीय घटना सुशासन देने वाली योगी सरकार पर सवाल खड़ा करती है। वक्ताओं ने आरोप लगाया कि घटना के कई दिनों तक जो घटनाक्रम चला, वह ताकत के गुमान में सबूतों को नष्ट करने का प्रयास है। यह भी कहा कि भाजपा सरकार व स्थानीय प्रशासन पूरे मामले को दबाकर दोषियों को बचाने का प्रयास कर रहे हैं। यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था पटरी से बाहर हो चुकी है। इस मामले को फास्ट ट्रेक कोर्ट में यह मामला चलाकर आरोपियों को कठोर दंड दिलवाने की मांग की। उन्होंने कहा कि महिला उत्पीड़न की ऐसी घृणित वारदातों को किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।
इस मौन सत्याग्रह में जिलाध्यक्ष पीतांबर पांडे, राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा, जागेश्वर के विधायक गोविंद सिंह कुंजवाल, पूर्व विधायक मनोज तिवारी, पूर्व विधायक मदन बिष्ट, पालिकाध्यक्ष प्रकाश जोशी, नगर अध्यक्ष पूरन सिंह रौतेला, पूर्व जिलाध्यक्ष राजेंद्र बाराकोटी, महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष लता तिवारी, राधा बिष्ट, प्रीति बिष्ट, तारा चंद्र जोशी, दीवान सतवाल, राजीव कर्नाटक, दीपांशु पांडे, संजय दुर्गापाल, विनोद वैष्णव, राबिन भंडारी, राजेंद्र बोरा, सिकंदर पवार, हर्ष कनवाल, गोपाल चौहार, गजेंद्र फर्तियाल, फाकिर खान, प्रताप सत्याल, देवेंद्र बिष्ट, भूपेंद्र भोज, राजेंद्र बोरा, दिनेश नेगी, रमेश आर्या समेत बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!