Deepa Gadhia tops PG MD exam
बागेश्वर की बेटी दीपा गढ़िया अपने माता-पिता के साथ

बागेश्वर की बेटी ने किया पीजी एमडी परीक्षा में टॉप | Deepa Gadhia tops PG MD exam

पहाड़ की बेटियां किसी से कम नहीं है यह तो साबित होता आ रहा है। इसी साल UPSC में भी पहाड़ की कई बेटियों ने बाजी मारी है। इसी क्रम में आज हम चलते हैं उत्तराखंड के बागेश्वर जिले के कपकोट पोथिंग गांव। जहां की दीपा गढ़िया (Deepa Gadhia) ने एनबीइएसएम बोर्ड 2022 नीट पीजी एमडी की परीक्षा (Neet PG MD Exam) में प्रदेशभर में दूसरे स्थान पर टॉप किया हैं।

पूर्व फौजी की बेटी का प्रदेशभर में दूसरा स्थान | Deepa’s second place in the state

नीट पीजी एमडी की परीक्षा में 800 अंक में से 591 अंक लाकर पूर्व फौजी और हांकी खिलाड़ी राजेंद्र गढ़िया की बेटी दीपा गढ़िया परीक्षा में टॉपर रहीं। उन्होंने उत्तराखंड में दूसरा स्थान बनाया है। और प्रदेश के साथ-साथ अपने जिले का नाम भी रोशन किया। दीपा की इस सफलता पर उनके गांव पोथिंग में खुशी की लहर दौड़ गई है। दीपा पीजी करने के बाद अपने जिले में सेवाएं देंगी।

दीपा तीन वर्ष की डिग्री लेकर जिले में सेवाएं देंगी

कहते हैं प्रतिभा होती है तो कामयाबी कदम चूमती है। यह सिद्धांत दीपा पर लागू होता है। दीपा की प्रारंभिक शिक्षा गांव के प्राथमिक विद्यालय से हुई। जबकि दीपा ने 10वीं और 12वीं की शिक्षा सेना के विद्यालय पंजाब से साल 2015 में 93 प्रतिशत के साथ पास की। वहीं 2016 में नीट यूजी में 720 अंकों में से 580 अंक लेकर मेडिकल कॉलेज में प्रवेश किया। जिसके बाद कोविड महामारी के दौरान भी दीपा ने बेहतर काम किया। वह रेडियोलाजिस्ट, मेडिसन पर तीन वर्ष की डिग्री लेकर जिले में सेवा करेंगी।


साल 1956 में भीम सिंह गढ़िया ने बसाया था पोथिंग गांव

दीपा के पिता गढ़िया ने बताया कि वर्ष 1956 में भीम सिंह गढ़िया ने पोथिंग गांव बसाया था। दानपुर घाटी से कांग्रेस नेता जसवंत सिंह गढ़िया पहले जिला पंचायत सदस्य रहे। घाटी की समस्या लेकर वह लखनऊ तक पहुंचे। उन्होंने ही गढ़िया बग्वाल की नींव भी रखी। उन्होंने कहा कि वह उसी परिवार से हैं। उनकी बेटी की सफलता पर उनके गांव में खुशी का माहौल है। वह शीघ्र कपकोट में एक कार्यक्रम आयोजित करेंगे।

गांव में खुशी का माहौल

बेटी की सफलता पर पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण, पूर्व जिपंअ हरीश ऐठानी, नगर पंचायत अध्यक्ष कपकोट गोविंद बिष्ट, दीपक गढ़िया आदि ने खुशी जताई है। उन्होंने कहा कि बेटी के घर आने पर उसे सम्मानित किया जाएगा।

आईआईटी रूड़की में कोच बनी बागेश्वर की बेटी

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here