देहरादून। पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर द्वारा गढ़ी कैंट स्थित उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद मुख्यालय  से सभी तेरह जनपदों के जिला पर्यटन विकास अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना काल में पर्यटन क्षेत्र पर पड़े प्रभाव तथा विभिन्न विभागीय योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की गई। इसके अंतर्गत होमस्टे पंजीकरण, दीनदयाल गृह आवास विकास ऋण योजना, वीर चंद्र सिंह गढ़वाली स्वरोजगार योजना तथा 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टिनेशन योजना के अंतर्गत किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की गई।

सचिव पर्यटन ने कहा कि कोरोना संक्रमण के कारण पर्यटन उद्योग पर काफी प्रभाव पड़ा है। राज्य सरकार पर्यटन क्षेत्र में से जुड़े हुए व्यवसायियों को यथासंभव राहत एवं रियायत देने के लिए आवश्यक कार्यवाही रही है। इसके लिए जनपद स्तर से सूचनाएं एकत्रित की जा रही है ताकि सरकार द्वारा जाने वाले कदमों का प्रभावी रूप से निष्पादन किया जा सके। उन्होंने कहा कि पर्यटन विभाग के सामने सबसे बड़ी चुनौती कोरोना काल के पश्चात पर्यटन गतिविधियों को पुनः स्थापित करने की है जिसके क्रम में सभी जिला पर्यटन विकास अधिकारियों को उनके जनपदों में राज्य सरकार की स्वरोजगार योजनाओं को प्रभावी रूप से लागू करने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं।

उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सभी जनपदों में 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टिनेशन योजना के अंतर्गत चल रहे अवस्थापना कार्यों की भी समीक्षा की गई। उन्होंने कहा कि सभी जिला पर्यटन विकास अधिकारियों को आमजन के साथ सामाजिक दूरी का  ध्यान रखते हुए संपर्क करने एवं योजनाओं में ऑनलाइन आवेदन को प्रोत्साहित करने हेतु निर्देशित किया गया है।


Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here