सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा
जिले में 30 नवंबर तक निष्प्रयोज्य डी कैटेगरी के विद्यालय भवन ध्वस्त होंगे। यह निर्देश जिलाधिकारी वंदना ने दिए हैं। जनपद के अंतर्गत राजकीय विद्यालयों के जीर्ण-क्षीण भवनों का सत्यापन कराने के संबंध में आज कलेक्ट्रेट में डीएम अधिकारियों की बैठक ली और आवश्यक दिशा—निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने कहा कि विद्यालयों के जीर्ण—क्षीण भवनों के सत्यापन के लिए बनाई गई समिति स्वयं भवनों का निरीक्षण करें तथा इसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करें। साथ ही यह निर्देश भी दिए कि निरीक्षण के दौरान समिति में नामित तकनीकी विभाग का व्यक्ति अवश्य शामिल रहे। उन्होंने कहा कि पठन—पाठन के लिए वैकल्पिक व्यवस्था युक्त विद्यालयों में अनुपयुक्त तथा जीर्ण—क्षीण भवनों की ध्वस्तीकरण की कार्यवाही चरणबद्ध तरीके से की जाए।


डीएम ने कहा कि ध्वस्तीकरण के लिए आने वाले प्रस्तावों पर अमल से पहले जांच लें पूर्व यह जांच लें कि भवन ध्वस्तीकरण करने योग्य है या नहीं। उन्होंने कहा कि अनावश्यक ही भवनों का ध्वस्तीकरण न किया जाए। निष्प्रयोज्य डी कैटेगरी के भवनों को 30 नवंबर तक ध्वस्तीकरण करना सुनिश्चित करें। साथ ही कहा कि जिन भवनों का पुनर्निर्माण होना है, उनके आगणन भी बनाए जाए तथा विभागीय समिति से अनुमोदित कराकर शासन को प्रेषित करें। उन्होंने सी कैटेगिरी के भवनों में होने वाली मरम्मत के लिए भी आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बैठक में प्रभारी मुख्य शिक्षा अधिकारी सत्यनारायण समेत अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here