उत्तराखंडनैनीताल

हर घर में घरेलू जल संयोजन सुनिश्चित करें – डीएम

नैनीताल। जल जीवन मिशन के अन्तर्गत प्रथम चरण में हर घर में क्रियाशील घरेलू जल संयोजन देने हेतु सभी राजस्व ग्रामों की शीघ्रता से डीपीआर तैयार कर क्रियान्वयन करना सुनिश्चित करें। यह निर्देश जिलाधिकारी एवं अध्यक्ष जिला जल एवं स्वच्छता मिशन सविन बंसल ने वीसी के माध्यम से जल संस्थान तथा जल निगम के अधिकारियों को दिए। बंसल ने निर्देशित करते हुए कहा कि प्रत्येक घर में स्वच्छ एवं गुणवत्तायुक्त पेयजल उपलब्ध कराना प्राथमिकताओ में शामिल है।

उन्होंने निर्देश दिए कि जल जीवन मिशन के अन्तर्गत सभी घरो को घरेलू क्रियाशील जल संयोजन उपलब्ध कराये जाये तथा प्रथम चरण कार्य के साथ ही द्वितीय चरण की डीपीआर तैयार करने हेतु आवश्यक गतिविधियां संचालित करना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिए कि जेजेएम के अन्तर्गत जनपद का प्रदर्शन उच्च कोटि का होना चाहिए। उन्होंने भविष्य में जेजेएम योजना के सफल क्रियान्वयन हेतु आरसेटी आदि के माध्यम से इच्छुक ग्रामीण व्यक्तियों का कौशल विकास करने के निर्देश दिए। उन्होंने जिला सेवायोजन अधिकारी तथा आरसेटी के अधिकारियों को इसके लिए प्रभावी कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए।

बंसल ने निर्देश दिए कि द्वितीय चरण की डीपीआर कम से कम आगामी 30 वर्षों में पेयजल की मांग एवं आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए तैयार की जाये। उन्होंनें निर्देशित करते हुए कहा कि डीपीआर में इस बात पर भी विशेष ध्यान दिया जाये कि जल स्त्रोतों, धारा एवं नोले का संरक्षण एवं संवर्धन किस प्रकार किया जायेगा ताकि भविष्य में पानी की किल्लत न हो। बंसल ने जल जीवन मिशन कार्यों की प्रगति पर संतोष जाहिर करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों की प्रशंसा की। उन्होंने निर्देश दिए कि जो गांव क्रियाशील पेयजल कनैक्शन से आच्छादित हो चुके हैं उन्हें सम्मानित किया जाये।

अधीक्षण अभियंता जल संस्थान एएस अंसारी ने बताया कि हर घर में क्रियाशील घरेलू जल संयोजन हेतु जल निगम भीमताल द्वारा निर्धारित लक्ष्य 107 डीपीआर के सापेक्ष 51 डीपीआर तथा जल निगम रामनगर द्वारा 179 के सापेक्ष 108 डीपीआर तैयार कर ली गयी हैं। उन्होंने बताया कि जल संस्थान नैनीताल द्वारा 290 के सापेक्ष 259, जल संस्थान हल्द्वानी द्वारा 125 के सापेक्ष 64, जल संस्थान हल्द्वानी ग्रामीण के द्वारा 121 के सापेक्ष 90, जल संस्थान रामनगर द्वारा 82 के सापेक्ष 41 डीपीआर तैयार कर ली गयी हैं। उन्होंने बताया कि जनपद में अब तक कुल 613 डीपीआर तैयार की जा चुकी हैं तथा शेष डीपीआर तैयार किये जाने का कार्य युद्धस्तर पर गतिमान है।

आधार कार्ड खो गया है, तो घर बैठें ऐसे निकाल सकते हैं डिजिटल कॉपी, जानिए तरीका

तीन बच्चों की गला दबाकर हत्या करने के बाद पिता भी झूला फंदे पर, मां की कैंसर से पहले ही हो गई थी मौत

Leave a Comment!

error: Content is protected !!