उत्तराखंडऊधमसिंह नगर

किच्छा ब्रेकिंग : सीएचसी में प्रसूति के बाद स्टाफ नर्स के पैसों मांगने पर परिजनों का हंगामा

अस्पताल में चिकित्सक वानर से नोकझोंक करते परिजन

किच्छा। नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्टाफ नर्स द्वारा गर्भवती महिला की प्रसूति के बाद परिजनों से पैसों की मांग किए जाने के बाद हॉस्पिटल में हंगामा हो गया। परिजनों ने महिला चिकित्सक व स्टाफ नर्स पर तमाम गंभीर आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। मामले की सूचना पर कांग्रेस के तमाम पदाधिकारी मौके पर पहुंच गए। मौके पर पहुंचे कांग्रेसियों के साथ महिला चिकित्सक के पुत्र ने अभद्रता शुरू कर दी। घटना की जानकारी पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और महिला चिकित्सक के पुत्र की जमकर फटकार लगाई। फिलहाल पूरा मामला क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।

मामला तूल पकड़ने के बाद तमाम लोगों द्वारा मामले को रफा-दफा करने के लिए प्रयास शुरू हो गए हैं। फिलहाल घटना की कोई लिखित शिकायत पुलिस में नहीं की गई है। जानकारी के अनुसार नगर के नई बस्ती निवासी भगवान दास अपनी गर्भवती पत्नी सुमन देवी को देर शाम नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया था, जहां ओपरेशन के बाद रात में महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया। महिला के पति भगवान दास का आरोप है कि शिशु के जन्म के बाद से हॉस्पिटल में कार्यरत स्टाफ नर्स द्वारा 3 हजार रूपए की मांग शुरू कर दी गई।

पीड़ित के अनुसार उसने गरीबी का हवाला देते हुए पैसे देने में असमर्थता जताई और मिठाई के लिए 200 रुपए स्टाफ नर्स को दे दिए। पीड़ित भगवान दास ने आरोप लगाया कि मिठाई के लिए 200 रुपए दिए जाने के बावजूद स्टाफ नर्स द्वारा लगातार पैसों की मांग करते हुए उसके साथ अभद्रता शुरू कर दी गई और इसी बीच मौके पर पहुंची महिला चिकित्सक ने भी अभद्र भाषा का प्रयोग कर थप्पड़ मारने की धमकी दी। हंगामे की सूचना पर कांग्रेस नगर अध्यक्ष अरुण तनेजा, प्रदेश सचिव संजीव कुमार सिंह, डॉ. राजेंद्र कामरा मौके पर पहुंचे और मामला शांत कराने का प्रयास किया।

👉 न्यूज़ व्हाट्सएप ग्रुप click now 👈

आरोप है कि इसी बीच महिला चिकित्सक डॉ. कनक के पुत्र ने कांग्रेस पदाधिकारियों के साथ अभद्रता करते हुए बंधक बनाकर मारपीट करने की धमकी दे दी, जिसके बाद माहौल गरमा गया और कांग्रेसियों ने जमकर खरी-खोटी सुनाते हुए चिकित्सक के पुत्र को हद में रहने की नसीहत दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला चिकित्सक के पुत्र की जमकर फटकार लगाई, जिसके बाद अपनी कार्यप्रणाली को लेकर चिकित्सक के पुत्र तथा महिला चिकित्सक ने सार्वजनिक रूप से माफी मांगी।

फिलहाल तमाम लोगों की मौजूदगी में मामले का पटाक्षेप हो गया। कांग्रेस नगर अध्यक्ष तनेजा ने आरोप लगाया कि कोरोना काल में भी चिकित्सकों द्वारा मरीजों को परेशान करने का काम किया जा रहा है और महिलाओं की प्रसूति के बाद अवैध रूप से पैसे की डिमांड की जाती है। उन्होंने कहा कि मांग पूरी ना होने पर मरीजों को प्रताड़ित करने का काम किया जाता है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर अस्पताल प्रशासन द्वारा व्यवस्थाओं में सुधार ना किया गया तो कांग्रेस कार्यकर्ता सीएससी के खिलाफ मोर्चा खोलने को मजबूर होंगे।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!