• बिना सत्यापन काम पर रखे थे मजदूर
  • जिले में 55 लोगों का पुलिस सत्यापन

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा
बिना सत्यापन के ही मजदूरों को काम पर रखना एक ठेकेदार को महंगा पड़ा। चेकिंग में पुलिस ने ठेकेदार के खिलाफ चालानी कार्यवाही की और 05 हजार रुपये का जुर्माना वसूला। इसके अलावा जिले में विभिन्न थाना क्षेत्रों में 55 लोगों का पुलिस सत्यापन किया गया।

मालूम हो कि जिले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रदीप कुमार राय के निर्देश पर जनपद में निवासरत मजदूरों, बाहरी व्यक्तियों, फड़-फेरी, रेड़ी व ठेले लगाने वाले व्यक्तियों तथा किरायेदारों के शत-प्रतिशत सत्यापन के लिए सघन अभियान पुलिस द्वारा चलाया जा रहा है और नियमों का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध कार्यवाही की जा रही है। इसी क्रम में दन्या थानाध्यक्ष सुशील कुमार के नेतृत्व में दन्या क्षेत्र में सत्यापन अभियान चला। इस दौरान पाया गया कि 01 ठेकेदार द्वारा बिना पुलिस सत्यापन के ही मजदूरों को काम पर रखा गया है। पुलिस ने इस ठेकेदार के विरुद्ध धारा 83 उत्तराखंड पुलिस अधिनियम के तहत चालानी कार्यवाही की और 5000 रुपये जुर्माना वसूला गया। साथ ही हिदायत दी कि मजदूरों को काम पर रखने से पूर्व उनका पुलिस सत्यापन अवश्य करा लें।




इसके अतिरिक्त जनपद पुलिस द्वारा 55 फड़/फेरी लगाने वाले एवं मजदूरों का सत्यापन कराया गया। क्षेत्रवासियों को जागरुक करते हुए उत्तराखण्ड पुलिस एप के माध्यम से घर बैठे सत्यापन कराने की सुविधा के बारे में जानकारी दी जा रही है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here