उत्तराखंडचमोलीदेहरादूनब्रेकिंग न्यूज

चमोली अपडेट : पीएम मोदी और सीएम रावत ने की हताहतों के लिए राहत की घोषणा

देहरादून। उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत चमोली के तपोवन इलाके की समीक्षा के बाद देहरादून वापस आ गए है जिसके बाद उन्होंने कहा राज्य के अधिकारी और सेना और आईटीबीपी जवान रेस्क्यू कार्य में लगे हुए है। जिसके बाद उन्होंने एक प्रेस मीटिंग करके मृतक के परिजनों को प्रत्येक को 4 लाख रुपये की वित्तीय सहायता देने के लिए कहा है। विशेषज्ञ ग्लेशियर के प्रकोप के पीछे का कारण बता सकते हैं। लेकिन हमारी सरकार अभी लोगों के जीवन को बचाने पर केंद्रित है।

इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड के चमोली में एक ग्लेशियर के टूटने से हुए दुखद हिमस्खलन के कारण जान गंवाने वालों के परिजनों के लिए PMNRF से 2 लाख और गंभीर रूप से घायलों को 50,000 रुपये दिए जाएंगे।

देखिए, मौत के मुंह से वापस आया यह आदमी, ITBP बनी देवदूत

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा 180 भेड़ और बकरियों के साथ चरवाहों सहित पांच स्थानीय लोग बाढ़ में बह गए। हम मान रहे हैं कि लगभग 125 लोग लापता हैं। संख्या अधिक हो सकती है।

सीएम रावत ने प्रेस मीटिंग में कहा भारतीय सेना मौके पर पहुंच गई है, एनडीआरएफ की एक टीम जो देहरादून पहुंची है, वह चमोली का मार्ग है। डॉक्टरों ने वहां डेरा डाल दिया है। उपकरणों के साथ 60 एसडीआरएफ कर्मियों की एक टीम मौके पर पहुंची है।

डीआरडीओ अधिकारी का कहना है कि रक्षा भू-सूचना विज्ञान अनुसंधान प्रतिष्ठान के बर्फ और हिमस्खलन विशेषज्ञों की एक डीआरडीओ टीम उत्तराखंड में साइट पर स्थिति का आकलन करने के लिए कल पहुंच जाएगी, जहां फ्लैश फ्लड आई थी। टीम स्थल के आसपास के ग्लेशियरों में स्थिति का आकलन करेगी।

अपडेट उत्तराखंड ब्रेकिंग : सीएम योगी भी बेचैन, दो परियोजनाओं में 157 लोग लापता, दस शव मिले, तपोवन सुरंग में फंसे 16 श्रमिक सुरक्षित निकाले, डीजीपी अल्मोड़ा से वापस लौटे

देहरादून/जोशीमठ/बागेश्वर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तराखंड में बांध के टूटने से उत्पन्न हुई परिस्थितियों को देखते हुए प्रदेश में संबंधित विभागों, अधिकारियों और एसडीआरएफ को हाई-अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है। इस बीच जोशीमठ से खबर आ रही है कि एनटीपीसी और ऋषिगंगा प्रोजेक्ट साइट से कुल 157 लोग लापता है। अब तक 9 से 10 शव नदी से बरामद किए जा चुके हैं। तपोवन की सुरंग में फंसे 16 मजदूरों को आईटीबीपी ने निकाल लिाय है।

दूसरी ओर कुमाऊं के प्रवास पर आए डीजीपी अशोक कुमार ने अल्मोड़ा से बागेश्वर जाने का कार्यक्रम स्थगित कर दिया है। वे राजधानी वापस लौट रहे हैं।
यूपी के सीएम मुख्यमंत्री ने गंगा नदी के किनारे स्थित सभी जनपदों के ज़िलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों को पूरी सतर्कता बरतने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने संबंधित विभागों के अधिकारियों के बैठक के बाद कहा कि देवभूमि उत्तराखंड में उत्पन्न हुई प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा हर संभव सहायता प्रदान की जाएगी।

हल्द्वानी ब्रेकिंग : गौला पुल से युवक ने कूदकर की आत्महत्या, मौके पर मौत

उधर, जोशीमठ क्षेत्र से आगे मलारी के पास एक सीमा सड़क संगठन पुल बाढ़ से बह गया है। महानिदेशक बीआरओ लेफ्टिनेंट जनरल राजीव चौधरी ने अधिकारियों को जल्द से जल्द इसे बहाल करने का निर्देश दिया है।
आवश्यक दुकानों और कर्मियों को स्थान पर ले जाया जा रहा है। दूसरी ओर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा है कि उत्तराखंड के पास ग्लेशियर टूटने से इस क्षेत्र में विनाश हुआ। लोगों की भलाई और सुरक्षा के लिए प्रार्थना करना। विश्वास है कि जमीन पर बचाव और राहत अभियान अच्छी तरह से आगे बढ़ रहे हैं। उधर तपोवन सुरंग में फंसे 16 श्रमिकों को आईटीबीपी के जवानों ने निकाल लिया है।

गंगा में बाढ़ से पूरा देश हिला,मोदी, अमित, एयरफोर्स और एनडीआरएफ अलर्ट

अपडेट उत्तराखंड ब्रेकिंग : एनटीपीसी के ध्वस्त डैम से तीन शव बरामद, सीएम पहुंचे रैणी गांव

जोशीमठ। उत्तराखंड के चमोली के तपोवन इलाके में एनटीपीसी स्थल पर तीन शव बरामद हुए हैं। इस बीच खबर आ रही हताहतों की संख्या 100 से 150 के बीच होने की आशंका है। इस बीच उत्तराखंड के मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने कहा है कि आईटीबीपी, एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमें पहले ही घटनास्थल पर पहुंच चुकी हैं। रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को चमोली जिले के तपोवन क्षेत्र में सेना और आईटीबीपी के जवानों द्वारा बाढ़ की स्थिति के बारे में जानकारी दी गई। इस बीच राहत एवं बचाव दलों ने नदी के तटवर्ती इलाकों को अपने कब्जे में ले लिया है।

इस खबर के अपडेट के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सप्प ग्रुप से Click Now

https://chat.whatsapp.com/IXMRTGym9m5BQSfnBPzotF

सेना ने कहा है कि उत्तराखंड के चमोली के तपोवन क्षेत्र के रेनी गांव में सेना के चार कॉलम, दो मेडिकल टीम और एक इंजीनियरिंग टास्क फोर्स की तैनाती की गई है। सेना के हेलिकॉप्टर उड़ान पर लगे हैं।

गंगा में बाढ़ से पूरा देश हिला,मोदी, अमित, एयरफोर्स और एनडीआरएफ अलर्ट

अपडेट उत्तराखंड ब्रेकिंग : पीएम मोदी ने असम से की उत्तराखंड के हालात की समीक्षा, सेना ​किसी भी स्थिति से निपटने को तैयार

देहरादून/नई दिल्ली। राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) की टीमें जोशीमठ में पहले से ही तैनात हैं। राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) पहले ही देहरादून से जोशीमठ के लिए रवाना हो गया है। एनडीआरएफ के म हानिदेशक एसएन प्रधान ने कहा है कि दिल्ली से 3-4 और टीमों के लिए एयरलिफ्ट का का प्रबंध किया जा रहा है।

उधर नंद प्रयाग से मिल रही जानकारी के अनुसार अलकनंदा नदी में पानी का प्रवाह सामान्य होता जा रहा है। नदी का जल स्तर अब सामान्य से 1 मीटर ऊपर है, यह लगातार कम हो रहा है। मुख्य सचिव, आपदा सचिव, पुलिस अधिकारी और मेरी सभी टीमें आपदा नियंत्रण कक्ष में स्थिति की निगरानी कर रही हैं। सीएम रावत नंदप्रयाग पहुंच गए हैं। असम में रहते हुए, पीएम नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत और अन्य शीर्ष अधिकारियों से बात की। उन्होंने बचाव और राहत कार्य का जायजा लिया।

पीएम ने कहा कि अधिकारी प्रभावितों को हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए काम कर रहे हैं। मोदी ने कहा कि उत्तराखंड में दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति की लगातार निगरानी कर रहे हैं। भारत उत्तराखंड के साथ खड़ा है और वहां सभी की सुरक्षा के लिए राष्ट्र प्रार्थना करता है। उन्होंने कहा कि लगातार वरिष्ठ अधिकारियों से बात कर रहे हैं और एनडीआरएफ की तैनाती बचाव कार्य और राहत कार्यों में अपडेट प्राप्त कर रहे हैं।

गंगा में बाढ़ से पूरा देश हिला,मोदी, अमित, एयरफोर्स और एनडीआरएफ अलर्ट

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में बचाव कार्यों में मदद के लिए देहरादून और आस-पास के क्षेत्रों में वायुसेना के दो एमआई -17 और एक एएलएच ध्रुव हेलिकॉप्टर सहित तीन हेलिकॉप्टर। वायु सेना ने कहा है कि आवश्यकता के अनुसार और विमान तैनात किए जाएंगे। उत्तराखंड के चमोली में राहत कार्यों पर कैबिनेट सचिवालय में एक बैठक बुलाई गई है। बैठक में शामिल होने के लिए महानिदेशक और गृह मंत्रालय के अधिकारी पहुंच गए हैं।

हम आपको बता दें कि राहत कार्यों में इस समय 200 से अधिक जवान स्थानीय प्रशासन के सहयोग से काम कर रहे हैं। स्थिति का आकलन करने के लिए एक टीम मौके पर है। आईटीबीपी प्रवक्ता विवेक पांडे ने कहा है कि लोगों को जागरूक करने और बाहर निकालने के लिए जोशीमठ के पास एक और टीम तैनात है। स्थिति नियंत्रण में है।

उधर केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन ने कहा है कि यह एक तरह की त्रासदी है जो बेहद चौंकाने वाली है। यह एक प्राकृतिक आपदा है। गृह मंत्री ने आश्वासन दिया है कि उत्तराखंड सरकार की हर मदद की जरूरत होगी। उस पर कोई संकोच नहीं किया जाएगा।

ऐसे आ रही उत्तराखंड के गढ़वाल में जल तबाही

भारतीय सेना ने बाढ़ से निपटने के लिए उत्तराखंड सरकार और NDRF को सहयोग देने के लिए हेलिकॉप्टरों और सैनिकों को तैनात किया है। सेना प्रवक्ता ने कहा है कि ऋषिकेश के निकट सैन्य स्टेशन सक्रिय रूप से स्थानीय प्रशासन के साथ बचाव और राहत कार्यों के समन्वय में शामिल है। सेना मुख्यालय स्थिति की निगरानी कर रहा है।

अपडेट उत्तराखंड ब्रेकिंग : गृह मंत्री अमित शाह ने ली उत्तराखंड मुख्य सचिव से जानकारी, बोले—हर संभव सहायता देंगे देवभूमि को

नई दिल्ली/देहरादून। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने उत्तराखंड के चमोली जिले में बाढ़ की स्थिति, उत्तराखंड के मुख्य सचिव ओम प्रकाश, केंद्रीय गृह सचिव गृह नित्यानंद राय के साथ राहत और बचाव के बारे में जानकारी ली।

उधर न्यूज एजेंसी एएनआई ने उत्तराखंड के मुख्य सचिव ओमप्रकाश के हवाले से खबर दी है कि इस घटना में 100 से 150 लोगों के ह​ताहत हुए हैं। गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि मैंने सीएम टीएस रावत, आईटीबीपी और एनडीआरएफ के महानिदेशकों से बात की है। संबंधित सभी अधिकारी लोगों को बचाने के लिए युद्ध स्तर पर काम कर रहे हैं। एनडीआरएफ की टीमें बचाव कार्य के लिए रवाना हो गई हैं। देवभूमि को हर संभव मदद मुहैया कराई जाएगी। कुछ देर में एयरफोर्स के हेलीकाप्टर भी उत्तराखंड के लिए रवाना किए जाएंगे।

ग्लेशियर के टूटने से ऋषिगंगा नदी प्रभावित हुई है और बीआरओ द्वारा बनाए जा रहे एक पुल पर बाढ़ आ गई है। ऋषिगंगा परियोजना की ऊपरी पहुंच भी क्षतिग्रस्त हो गई है। चमोली, जोशीमठ और अन्य बहाव क्षेत्र प्रभावित होंगे: एसएन प्रधान, डीजी एनडीआरएफ

एनडीआरएफ की कुछ और टीमों को दिल्ली से उत्तराखंड भेजा जा रहा है। हम लगातार स्थिति की निगरानी कर रहे हैं: गृह मंत्री अमित शाह

ऐसे आ रही उत्तराखंड के गढ़वाल में जल तबाही

अपडेट उत्तराखंड ब्रेकिंग : एनडीआरएफ,एसडीआरएफ, आईटीबीपी और प्रशासन की टीमें चला रही रेस्क्यू, पचास लोग बहे- डीजीपी

देहरादून। धौलीगंगा में ग्लेशियर गिरने के बाद आई बाढ़ से लोगों को बचाने का काम तेजी से जारी है। एसडीआरएफ की पांच और एनडीआरएफ की तीन टीमें मौके पर पहुंच कर रेस्क्यू के अभियान चला रही है। शाम तक केंद्रीय गृहमंत्रालय की ओर से एनडीआरएफ की तीन और टीमें प्रभावित क्षेत्रों के लिए रवाना की जाएंगी। इधर अल्मोड़ा में डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि कर्णप्रयाग तक पानी पहुंच गया है। गंगा के पूरे बेसिन को खाली करा दिया गया है। उन्होंने बताया कि ऋषिगंगा प्रोजेक्ट पूरी तरह से ध्वस्त हो गया है। लगभग पचास लोग बह गए हैं।

उधर आईटीबीपी ने भी मोर्चा संभाल लिा है। अभी तक 50 से 75 लोगों के नदी में बहने की खबरें आ रही हैं। लेकिन इस मामले में जिला प्रशासन अथवा सरकार ने कुछ भी नही कहा है। रेस्कयू अभियान में हेलीकॉप्टर को भी उतार दिया गया है। उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रभावित क्षेत्रों में फंसे हुए लोगों के लिए आपदा परिचालन केंद्र संख्या 1070 या 9557444486 जारी किया है। वहीं किसी भी प्रकार की सहायता के लिए एसडीआरएफ ने 1352410197,1352412197, 9456596190 तीन फोन नंबर जारी किए हैं।

बिग अपडेट: सीएम श्रीनगर के लिए रवाना, भागीरथी की धारा रोकी गई, श्रीनगर और ऋषिकेश बांध खाली कराए गए

जोशीमठ। जोशीमठ से रैणी गांव में ग्लेशियर गिरने से नदी में आई बाढ़ में कई घरों के बहने की आशंका है। आईटीबीपी ने मोर्चा संभाल लिया है। जिला प्रशासन ने नदी किनारे रहने वाले भी सभी लोगों को ऊंचे इलाकों में पहुंचाने का काम शुरू कर दिया है। उधर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत श्रीनगर के लिए हाई मार्ग से रवाना हो गए हैं। उन्होंने न्यूज एजेंसी एएनआई के हवाले से कहा है कि अलकनंदा के पास के इलाकों से लोगों को निकाला जा रहा है। एहतियात के तौर पर भागीरथी नदी के प्रवाह को रोक दिया गया है। अलकनंदा के पानी के प्रवाह को रोकने के लिए श्रीनगर बांध और ऋषिकेश बांध को खाली कर दिया गया है। एसडीआरएफ अलर्ट पर है। वे स्वयं मौके के लिए रवाना हो रहे हैं।
दूसरी ओर बाढ़ का पानी पीपलकोटी पहुंच गया है। उत्तराखंड एसडीआरएफ ने फेसबुक पर अपडेट दी है कि पानी की रफ्तार बहुत तेज है, इसलिए नदी के किनारे निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को ऊंचाई वाले इलाकों में चला जाना चाहिए।

इस खबर के अपडेट के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सप्प ग्रुप से Click Now

https://chat.whatsapp.com/IXMRTGym9m5BQSfnBPzotF

इस खबर की हम आपको पल पल की अपडेट देते रहेंगे, आप बने रहिए हमारे साथ…

ब्रेकिंग न्यूज : गंगा में ग्लेशियर आने से सीएम रावत अलर्ट मोड पर, सभी जिलों में भेजा अलर्ट

देहरादून। जोशीमठ से आगे ग्लेशियर टूटने की घटना का पता चलते ही सरकार भी अलर्ट मोड पर आ गई है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिव आपदा प्रबंधन और डीएम चमोली से मामले की जानकारी हासिल की। उन्होंने जिला प्रशासन को निर्देश दिए हैं कि कोशिश यह की जाए कि कम से कम नुकसान हो। मुख्यमंत्री लगातार पूरी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। इस घटना के बाद संबंधित सभी जिलों को अलर्ट कर दिया गया है।

मिली जानकारी के अनुसार आज जोशीमठ के रैणी गांव से हेड कांस्टेबल मंगल सिंह द्वारा एसडीआरएफ को ग्लेशियर के टूटने की सूचना सुबह 10:55 बजे मिली। ग्लेशियर के टूट जाने की सूचना मिलने पर एसडीआरएफ की दो टीम 11 बजे रवाना हुई। 11:34 बजे रेस्क्यू प्रारम्भ कर दिया गया है। सेनानायक एसडीआरएफ के आदेश के अनुसार पोस्ट गौचर, श्रीनगर और रतूड़ा टीम भी अलर्ट कर दी गयी है।

इस खबर के अपडेट के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सप्प ग्रुप से Click Now

https://chat.whatsapp.com/IXMRTGym9m5BQSfnBPzotF

इस खबर पर हम आपको पल पल की अपडेट देते रहेंगे, आप बने रहिए हमारे साथ…

ब्रेकिंग उत्तराखंड : जोशीमठ में अलकनंदा पर आया ग्लेशियर, एनटीपीसी परिजयोजना क्षतिग्रस्त, भारी तबाही की अपुष्ट खबरें

जोशीमठ। ग्लेशियर के गिरने से जोशीमठ में भारी तबाही की खबर आ रही है।एनटीपीसी के धौलीगंगा परियोजना को भरी नुकसान पहुंचा है। बताया जा रहा है कि रैणी गांव के पास यह बड़ा हादसा पेश आया है।

अभी खबर पर कुछ खास जानकारी सामने नहीं आ रही है। लेकिन जोशीमठ से मीडिया रिपोर्टों में कहस जा रहा है कि नदी में बड़ा ग्लेशियर आने से अलकनंदा पर बांध बन गया है। जबकि कुछ रिपोर्टों के मुताबिक नदी पर बना बांध टूट गया है। जिससे पानी तेजी से नीचे की ओर आ रहा है।

अभी पूरी खबर की आधिकारिक पुष्टि होनी बाकी है। खबरें तो यह भी है कि नदी के किनारे वाले इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है। कुंभ से ठीक पहले इस तरह की घटना ने वर्ष 2013 की यादें एक बार फिर जिंदा कर दी हैं।

इस खबर पर हम आपको पल पल की अपडेट देते रहेंगे, आप बने रहिए हमारे साथ….

Leave a Comment!

error: Content is protected !!