Big Breaking : चमोली में चीन सीमा के पास ग्लेशियर टूटा, लगातार बारिश-बर्फवारी ने बढ़ाई मुसीबत, नदियों का लगातार बढ़ रहा जल स्तर, संपर्क बाधित

676

चमोली जिले अंतर्गत मलारी घाटी में चीन सीमा के पास ग्लेशियर टूट गया है। मामले की सूचना मिलने से एक बार पुनः दहशत का माहौल कायम हो गया है। चूंकि गत 07 फरवरी को ऐसी ही एक घटना में 205 लोग लापता हो गये थे, जिनमें से सिर्फ 79 के ही शव मिल पाये।

उल्लेखनीय है कि प्रभावित क्षेत्र में सड़क निर्माण का कार्य चल रहा है, किंतु वायरलेस सेट काम नही करने से नुकसान की कोई सूचना फिलहाल नही मिल पाई है। जोशीमठ से सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) की एक टीम मौके के लिए रवाना हो गई है। निरंतर भारी बारिश और बर्फ पड़ने से हालात काफी मुश्किल हो गये हैं। जिस इलाके में ग्लेशियर टूटने की सूचना है वहां ज्यादा आबादी नही है, सिर्फ सैनिक ही वहां जाते हैं।

एक क्लिक में पढ़े 7 फरवरी को आई चमोली आपदा की खबर

यह घटना जोशीमठ से करीब 90 किलोमीटर दूर सुमना नामक स्थान की है। सीमा पर अंतिम चैकी बाड़ाहोती तक यहीं से होकर पहुंचा जाता है। दूरस्थ क्षेत्र होने के कारण यहां संचार नेटवर्क भी नहीं है। चमोली के जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंद किशोर जोशी ने बताया कि बीआरओ के कमांडर मनीष कपिल के नेतृत्व में टीम मौके के लिए गई है। आशंका है कि कुछ श्रमिक वहां फंसे हो सकते हैं। उधर लगातार बारिश से धौलीगंगा और ऋषिगंगा नदियों का जल स्तर काफी बढ़ गया है। जिस कारण आस-पास के ग्रामीण डरे हुए हैं। अलबत्ता समाचार लिखे जाने तक घटना का कोई अन्य अपडेट प्रसारित नही हुआ है।

Previous articleमहाराष्ट्र में हाहाकार, 24 घंटे में 773 जानें लील गया कोरोना
Next articleहल्द्वानी की मनोचिकित्सक डाॅ. नेहा शर्मा का आकस्मिक निधन, शोक की लहर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here