CNE REPORTER, RANIKHET

पर्यटक नगरी रानीखेत में आराध्य देवी मां नंदा-सुनंदा का 132 वें महोत्सव का भव्य शुभारम्भ कदली वृक्ष लाने के साथ हुआ।

सुबह 10 बजे रायस्टेट में माधव कुंज स्थित विमल भट्ट के आवास से कदली वृक्ष पारंपरिक वाद्य यंत्रों व नगाड़े-निशाण के साथ रानीखेत नगर मुख्य बाजार से होते हुए नन्दा देवी मंदिर परिसर तक लाये गये। जहां दोपहर 2 बजे से मूर्ति निर्माण शुरू हुआ। कदली वृक्ष में क्षेत्र के विधायक प्रमोद नैनवाल तथा ताड़ीखेत के ब्लाक प्रमुख हीरा रावत ने भी शिरकत की।




कदली वृक्ष यात्रा के गांधी चौक पहुंचने पर श्रद्धालुओं को मुस्लिम समाज रानीखेत द्वारा जल पान कराया गया। नंदा महोत्सव समिति अध्यक्ष हरीश लाल साह द्वारा बताया गया कि इस वर्ष राजा दीपक बिष्ट तथा पूजा अर्चना पंडित विपिन पंत द्वारा की जा रही है। नंदादेवी मेले के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रमों के तहत विद्यालयों द्वारा सांस्कृतिक प्रतियोगिता में लोक गीत, लोक नृत्य, भजन, देश भक्ति गीत, लघु नाटक के अलावा महेंदी प्रतियोगिता, ऐपण प्रतियोगिता का आयोजन होगा। साथ ही कैरम, बिलियर्ड्स-स्नूकर, भार में बेंच प्रेस, जलेबी दौड़ तथा अन्य प्रतियोगिता कराई जायेंगी। विजेताओं को मां नंदा देवी समिति द्वारा पुरुस्कृत किया जाएगा। सांस्कृतिक तथा अन्य विशेष कार्यक्रमों में रंग कर्मी विमल सती अहम भूमिला निभा रहे हैं।

मूर्ति निर्माण में पंकज साह व अन्य का योगदान रहेगा। 07 सितंबर को प्रातः 10.30 बजे से मां नंदा-सुनंदा की शोभा यात्रा रानीखेत नगर के मुख्य मार्गों से निकलेगी। कदली वृक्ष के कार्यक्रम में नगर से जुड़े कैलाश पांडेय, अगस्त लाल साह, मोहन नेगी, मनीष चौधरी, यतीश रौतेला, अमित पांडेय, जगदीश अग्रवाल, दीप भगत, सुकृत साह, सुरेन्द्र साह, विजय तिवारी, दीपक पंत, विनय तिवारी, पंकज जोशी, दीपक बिनवाल, पीरू कांडपाल, किरण साह, सतीश पांडेय, गौरव तिवारी, हर्ष पंत, हर्ष दीप वर्मा, शंकर ठाकुर तथा मुस्लिम समाज से जुड़े लोगो में कामरान कुरेसी, मोहसीन खान, सामाजिक कार्यकर्ता नईम, सलीम ने विशेष सहयोग दिया।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here