सांकेतिक फोटो

हल्दूचौड़। क्षेत्र के डंपर स्वामियों की आज यहां देवरामपुर गेट में हुई मीटिंग में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि कोरोनावायरस के संक्रमण के खतरों को देखते हुए देवरामपुर गेट से उप खनिज निकासी नहीं की जाएगी। बैठक में तय किया गया कि जब तक कोरोनावायरस के संक्रमण का खतरा पूरी तरह टल नहीं जाता है। तब तक देवरामपुर गेट को बंद ही रखा जाएगा। इस फैसले से डीएलएम लालकुआं को ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया जाएगा।

ग्राम प्रधान हरीश बिरखानी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में डंपर स्वामियों ने एक स्वर से निर्णय लिया कि वर्तमान में वैश्विक महामारी कोरोना कोविड-19 का कहर चल रहा है। ऐसे में जरा सी असावधानी बहुत बड़ा खतरा साबित हो सकती है। लिहाजा अपने आर्थिक हितों को और स्वरोजगार को दरकिनार करते हुए डंपर स्वामियों ने जन स्वास्थ्य को वरीयता देते हुए कहा कि फिलहाल देवरामपुर गेट खोला जाना खतरनाक साबित हो सकता है।

लेटेस्ट ख़बर के लिए जुड़िये हमारें व्हाट्सएप्प ग्रुप से,
https://chat.whatsapp.com/
FTYwl1FqGnrLIxCmiP9RHe


सभी डंपर स्वामियों ने कहा कि जब तक कोरोनावायरस के संक्रमण का खतरा पूरी तरह से टल नहीं जाता है और स्थिति सामान्य नहीं हो जाती तब तक देवरामपुर गेट को बंद किया जाना जनहित के मद्देनजर न्याय संगत है। बैठक में ग्राम प्रधान संगठन की अध्यक्ष रुक्मणी नेगी बसंत शर्मा, देवेंद्र सिंह बिष्ट, हरीश फुलारा, प्रकाश तिवारी, कैलाश दुमका,पूर्व प्रधान महेश दुमका, कमलाकांत जोशी, प्रमोद बमेटा, नरेंद्र कार्की, चंदन राणा लीलाधर जोशी, पूरन जोशी, ललित शर्मा, अशोक शर्मा व मनोज उपाध्याय आदि मौजूद थे। इधर ग्राम प्रधान हरीश बिरखानी ने कहा कि उक्त बैठक में लिए गए निर्णय से डीएलएम लालकुआं को ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया जाएगा।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here