हल्द्वानी| अधिकारियों द्वारा स्थलीय निरीक्षण एवं कार्यों की समय-समय पर मानिटरिंग नहीं होने से सालिड वेस्ट कूड़ा निस्तारण में प्रगति नहीं आ पा रही है। यह बात आयुक्त दीपक रावत ने वीडियो कांफ्रेंसिग के माध्यम से कुमाऊं मण्डल के समस्त जिलाधिकारियों से कही।

रावत ने वीसी में कुमाऊं मण्डल के समस्त जिलाधिकारियों के द्वारा उनके जनपदों में सालिड वेस्ट कूड़े के निस्तारण के सम्बन्ध में विस्तृत चर्चा कर कूड़ा निस्ताण कार्यो की प्रगति की स्थिति से अवगत हुए। उन्होंने कहा कि डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन जो हो रहा है उसकी मानिटरिंग उपजिलाधिकारियों के साथ ही नगर पंचायत, नगर पालिका, नगर निगम के अधिकारियों के माध्यम से कराई जाए।

उन्होंने जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि कूड़े की मानिटरिंग सीसी टीवी कैमरों के द्वारा की जाए, ताकि अवैध रूप से कूड़ा डालने वालों का चालान किया जा सके तथा अवैध स्थानों पर जहां कूड़ा डम्प है उन स्थानों को समाप्त किया जाए।


उन्होंने कहा कि जनपदों में जिन स्थानों से सिंगल यूज प्लास्टिक की सप्लाई हो रही है उन स्थानों पर चेकिंग कर चालान करना सुनिश्चित करें ताकि सोर्स को खत्म किया जा सके। उन्होंने जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि जिन नगरीय क्षेत्रों की जनसंख्या अधिक है वहां रात्रि में भी सफाई व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

हल्द्वानी से नैनीताल जाने वाली सड़क पर सैकड़ों कैफे व जलपान गृह की दुकाने चल रही है जिनके द्वारा कूड़ा वन क्षेत्र में डाला जाता है इस पर आयुक्त रावत ने कहा कि कूड़ा डालने वाले कैफे व जलपान गृहों का चालान करना सुनिश्चित करें। रावत ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में जो साप्ताहिक बाजार लगाये जाते है उन स्थानों की मानिटरिंग की जाए तथा जिला पंचायत को साफ-सफाई व्यवस्था हेतु सुनिश्चित किया जाए।

वीसी में जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल, जिलाधिकारी चम्पावत नरेन्द्र सिंह भण्डारी, बागेश्वर रीना जोशी, पिथौरागढ आशीष चौहान, अल्मोड़ा वंदना सिंह, उधमसिंह नगर युगल किशोर पंत, सीसीएफ पीके पात्रो, अपर आयुक्त जीवन सिंह नगन्याल उपस्थित थे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here