हरिद्वार। उत्तराखण्ड में देवदूत कहे जाने वाली राज्य आपदा प्रक्रिया बल (एसडीआरएफ) ने शनिवार को दो कांवड़ियों को डूबने से बचा लिया।

एसडीआरएफ की प्रवक्ता ललिता दास नेगी ने बताया कि शनिवार देर रात कुछ कावड़िये हरिद्वार के कांगड़ा घाट में नहाने के लिए उतरे। तभी पानी के बहाव में दो कावड़िये बहने लगे। आस-पास मौजूद लोगों की चीख-पुकार सुन मौके पर उपस्थित एसडीआरएफ के तैराक जितेंद्र सिंह तथा शिवम ने अपनी जान की परवाह न करते हुए गंगा नदी में कूद पड़े और दोनों कावड़ियों को सुरक्षित बचा लिया।

नेगी ने बताया कि इन कांवड़ियों का नाम 33 वर्षीय भोला मंगल और 24 वर्षीय जतिन शर्मा है। ये दोनों निवासी दिल्ली के निवासी हैं। इन दोनों कांवड़ियों को रेस्क्यू करने वाली एसडीआरएफ टीम में उप निरीक्षक (एसआई) सचिन रावत, कांस्टेबल जितेंद्र सिंह, शिवम, अनूप रावत अनिल कोठियाल और ओम प्रकाश शामिल रहे।


हल्द्वानी : कमिश्नर रावत ने सुनी जनता दरबार में फरियादियों की जनसमस्याएं

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here