अल्मोड़ाउत्तराखंड

अल्मोड़ा न्यूज: हर हाल में बुजुर्गों के लिए निकालें वक्त— प्रो. सेंगर, उत्तराखंड सेवानिधि पर्यावरण संस्थान में संगोष्ठी

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा
जिला प्रशासन अल्मोड़ा एवं उत्तराखण्ड सेवा निधि पर्यावरण संस्थान अल्मोड़ा द्वारा संयुक्त रूप से यहां संस्थान परिसर में ”गरिमामय जीवन पीढ़ियों के बीच परस्पर जुड़ाव की भूमिका” विषयक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य वक्ता एवं भारतीय विधि संस्थान नई दिल्ली के पूर्व निदेशक प्रो. धर्मेन्द्र सिंह सेंगर व्याख्यान देते हुए बुजुर्गों के सम्मान की अलख जगाई।
डा. सेंगर ने कहा कि वर्तमान का दौर काफी संघर्षशील व भागादौड़ का दौर है। ऐसे में सभी को चाहिए कि हम बुजुर्गों खासकर माता—पिता के लिए समय अवश्य निकालें और उनसे हमेशा भावनात्मक जुड़ाव बरकरार रहे, चाहे हम कितने भी बड़े पदो पर आसीन हों या कितने भी व्यस्त हों। उन्होंने कहा कि माता-पिता, ईश्वर द्वारा प्रदत्त सबसे बहुमूल्य वस्तुओं में से एक हैं। उनकी समस्याओं को समझने व समस्याओं के समाधान के​ लिए माता-पिता को सहयोग करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि हर किसी को यह ध्यान रखना चाहिए कि माता-पिता की किसी भी मूलभूत आवश्यकता के लिए भटकना नहीं पड़े। संगोष्ठी में डा. सेंगर ने बुजुर्गो को उनके अधिकारों व कर्तव्यों की जानकारी दी। साथ ही अधिकारों के लिए विधिक सहायता लेने के बारे में समझाया और अपने अधिकारो के प्रति जागरूक रहने का सुझाव दिया।
संगोष्ठी की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने सर्वप्रथम प्रो. सेंगर का धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने कहा कि डा. सेंगर ने अति महत्वपूर्ण मुद्दे पर व्याख्यान दिया है।जिलाधिकारी ने कहा कि अल्मोड़ा में बुजुर्गो की संस्थायें काफी जागरूक हैं, वे अपने अधिकारों के प्रति सजग है। ऐसी संस्थाओं से उन्हें भी बहुत अधिक सीखने को मिला है। कार्यक्रम में सेवा निधि के निदेशक डा. ललित पाण्डे, अर्बन काॅपरेटिव बैंक के अध्यक्ष आनन्द सिं बगडवाल, मुख्य शिक्षाधिकारी एचबी चन्द, आपदा प्रबन्धन अधिकारी राकेश जोशी, मुख्य कृषि अधिकारी प्रियंका सिंह, उद्यान अधिकारी टीएन पाण्डेय, आयुर्वेदिक व यूनानी अधिकारी डा. केएस नपलच्याल, ग्रीन हिल्स संस्था की आशा डिसूजा, वसुधा पंत, मनोहर लाल बृजवाल के अलावा कई लोग व अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!