उत्तराखंडनैनीतालसी एन ई विशेष

हल्द्वानी में आदमखोर के आतंक मिटाने के लिए छेड़े गए आपरेशन को झटका, स्वास्थ्य बिगड़ने पर शिकारी टीम सहित घर लौटे, ग्रामीण और विभाग निराश

हल्द्वानी। उत्तराखंड वन विभाग को भले ही अन्य जिलों से आदमखोरों के अंत की उत्साहवर्धक खबरें मिल रही हैं लेकिन हल्द्वानी से विभाग को लगातार निराशा ही हाथ लग रही है। कुछ महीनों पहले रानीबाग क्षेत्र में दो महिलाओं को मार डालने और दो को घायल करने वाले गुलदार पर गोली चलाए जाना के बाद न तो उसका शव ही मिला और ना ही वह दोबारा क्षेत्र में दिखाई पड़ा।

ब्रेकिंग न्यूज : आगराखाल का आतंक बना नरभक्षी ढेर, शिकारी जॉय हुकिल का 39वां शिकार बना, कल शाम ही बच्चे की की थी हत्या, दूसरे शिकार के दो घंटे में ही मार डाला शिकारी ने

इसके बाद फतेहपुर क्षेत्र में एक किशोरी और एक आठ माह के बच्चे पर हमला करने वाले आदमखोर को मारने के लिए शिकारी बुलाए गए लेकिन कल शाम चार दिन की मेहनत के बाद शिकारी की तबीयत बिगड़ने के बाद यह मिशन अधूरा छोड़कर शिकारी अपनी टीम के साथ वापस लौट गए। विभाग इस आपरेशन में भी खाली हाथ ही रह गया।

क्रिएटिव न्यूज एक्सप्रेस की खबरों को अपने मोबाइल पर पाने के लिए लिंक को दबाएं

कल शाम फतेहपुर में आदमखोर का अंत करने के लिए छेड़े गए आपरेशन को अचानक रोकना पड़ा दरअसल मेरठ से आए शिकारी सैयद अली बिन हादी को सर्वाइकल प्रोब्लम होने के कारण आपरेशान को बीच में ही रोकना पड़ा है। हादी अपनी टीम के साथ वापस मेरठ लाट गए हैं।

देखिए दो साल पहले बागेश्वर में ऐसे हुआ था ग्रामीणों और गुलदार के बीच दिल दहला देने वाला एंकाउंटर

अब वन विभाग को आदमखोर के दोबारा एक्टिव हो जाने की चिंता सता रही है। हालांकि वन विभाग की टीमें क्षेत्र में दिन रात गश्त कर रही हैं। लेकिन शिकारी के साथ होने से इन टीमों के हौसले बुलंद थे और अब उनके उत्साह में भी कमी नजर आएगी।

हल्द्वानी ब्रेकिंग : भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य महेश खुल्बे सहित दो लोगों पर अंबिका विहार में सांड का हमला, खुल्बे चिकित्सालय में भर्ती, मोहल्ले में सांड का आतंक

Leave a Comment!

error: Content is protected !!