• मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया मेले का उद्घाटन
  • रंगारंग कार्यक्रमों के साथ नंदाष्टमी मेले का हुआ आगाज
  • कोटभ्रामरी मेले को राजकीय मेले का दर्जा देने की घोषणा

दीपक पाठक, गरुड़ (बागेश्वर)
जिले के गरुड़ में रंगारंग कार्यक्रमों के साथ सुप्रसिद्ध मां कोट भ्रामरी नंदाष्टमी मेले का आगाज हो गया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मेले का उद्घाटन किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि संस्कृति के संरक्षण में मेले बेहद सहायक सिद्ध होते हैं। उन्होंने कहा कि कोट भ्रामरी का मेला ऐतिहासिक, पौराणिक, धार्मिक के साथ-साथ व्यापारिक महत्व भी रखता है। उन्होंने कहा कि इस मेले की प्रमुख विशेषता यह है कि यहां कुमाऊं और गढ़वाल की संस्कृति का भी एक साथ संगम है। सीएम ने ऐलान किया कि कोटभ्रामरी मेले को राजकीय मेले का दर्जा दिया जाएगा।

शनिवार को देर सायं कोट भ्रामरी मेले का बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि यह मेला कुमाऊं और गढ़वाल को एकता के सूत्र में भी बांधता है। उन्होंने कोट भ्रामरी व बैजनाथ मंदिर के इतिहास पर भी प्रकाश डाला। इससे पूर्व मेला समिति ने फूलमाला पहनाकर, शॉल ओढ़ाकर व स्मृति चिह्न देकर मुख्यमंत्री का जोरदार स्वागत किया। अति विशिष्ट अतिथि सांसद अजय टम्टा ने कहा कि कोट भ्रामरी मेले के संरक्षण के लिए और भी प्रयास किए जायेंगे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि अगला दशक उत्तराखंड का होगा। जिसके लिए ईमानदारी से काम करना है। सभी विभागों को रोडमैप तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं। हम भ्रष्टाचार को जड़ से मिटाएंगे। भ्रष्टाचारियों को बख्शा नहीं जाएगा। पिंडर और सरयू-गोमती नदियों को जोड़ने का कार्य शुरू हो गया है। उन्होंने भाजपा सरकार की तमाम उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिव्य पुरुष बताया और कहा प्रधानमंत्री को उत्तराखंड की प्रत्येक समस्या का पता है। उनके नेतृत्व में भारत आज दुनिया का सिरमौर बन गया है। उन्हांने कहा कि कोट भ्रामरी मेला राज्य मेला होगा। बजट की व्यवस्था की जाएगी।




समारोह की अध्यक्षता करते हुए कैबिनेट मंत्री चंदन राम दास ने कहा कि मेलों के संरक्षण के लिए प्रदेश सरकार ठोस प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ एक लडाई लड़ रही है जिसमें प्रदेश की जनता का सहयोग जरूरी है। इससे पूर्व मेला संरक्षक व भाजपा जिलाध्यक्ष शिव सिंह बिष्ट ने मुख्यमंत्री समेत सभी का स्वागत किया। पूर्व विधायक ललित फर्सवाण ने अभिनंदन पत्र का वाचन किया। मेलाध्यक्ष व प्रमुख हेमा बिष्ट ने मुख्यमंत्री समेत सभी अतिथियों का आभार व धन्यवाद ज्ञापित किया। संचालन मेला कमेटी के सांस्कृतिक प्रभारी नंदन सिंह अल्मिया और देवेंद्र गोस्वामी ने किया। इस दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष बसंती देव, जिलाधिकारी रीना जोशी, पुलिस अधीक्षक अमित श्रीवास्तव, मेला अधिकारी राजकुमार पांडे, जिला पंचायत के उपाध्यक्ष नवीन परिहार, तहसीलदार तितिक्षा जोशी, कपकोट के विधायक सुरेश गड़िया, सांसद प्रतिनिधि घनश्याम जोशी, जिला पंचायत सदस्य जनार्दन लोहुमी, गोपाल सिंह किरमोलिया, सुनीता आर्या, भावना दोसाद, रूपा कोरंगा, इंद्रा परिहार, एससी मोर्चा जिलाध्यक्ष जेसी आर्या, मेला उपाध्यक्ष बलवंत भंडारी, ज्येष्ठ प्रमुख बहादुर कोरंगा कनिष्ठ प्रमुख दीपा जोशी, मेलाडुंगरी की ग्राम प्रधान कौशल्या देवी, व्यापार संघ के जिलाध्यक्ष बबलू नेगी, हरीश रावत, दयाकृष्ण जोशी, सुनील दोसाद समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
सीएम की प्रमुख घोषणाएं

⏩ कोटभ्रामरी मेले को राजकीय मेले का दर्जा दिया जाएगा।
⏩ गरुड़ में मेडिकल कालेज खोलने का प्रस्ताव केन्द्र को भेजा जाएगा।
⏩ गरुड़ पालीटेक्निक में सिविल इंजीनियरिंग एवं कम्प्यूटर साइंस के विषयों की स्वीकृति दी जाएगी।
⏩ कौसानी चाय में चाय बागान का कार्यालय खोला जाएगा।
⏩ जूनियर हाईस्कूल भीटारकोट का प्रान्तीयकरन तथा कोटफुलवारी व गलई हाईस्कूल का उच्चीकरण किया जाएगा।
⏩ कोटमंदिर के स्थल विकास के लिए प्रस्ताव के अनुकूल धनराशि उपलब्ध कराई जाएगी।
12 किलो की लौकी बनी कौतूहल

गरुड़। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कोटभ्रामरी मेले में विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने उद्यान विभाग, रेशम, बाल विकास, जन शिक्षण संस्थान, उधोग विभाग, स्वयं सहायता समूहों के द्वारा बनाये गए उत्पादों का निरीक्षण कर उनका मनोबल बढ़ाया। मुख्यमंत्री ने उद्यान विभाग के स्टाल में कौसानी के किशन सिंह द्वारा उत्पादित 12 किलोग्राम की लौकी को देखकर उन्हें पुरस्कृत करने के निर्देश उद्यान अधिकारी को दिए। इस अवसर पर मंत्री चंदन राम दास, सांसद अजय टम्टा, विधायक सुरेश गड़िया, भाजपा जिलाध्यक्ष शिव सिंह बिष्ट, मुख्य विकास अधिकारी संजय सिंह, डीडीओ संगीता आर्य, जिला उद्यान अधिकारी आर के सिंह, सहायक उद्यान अधिकारी कुलदीप जोशी आदि मौजूद थे।
रंगारंग प्रस्तुतियों से बहुरंगी छटा
गरुड़। दो दिवसीय कोट भ्रामरी मेले में सांस्कृतिक कार्यक्रमो की धूम रही। युवा गायक दर्शन फर्स्वाण, प्रह्लाद मेहरा की टीम के देवी स्तुति के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरुआत की। पंडित दीनदयाल विद्यालय के बच्चों ने शानदार छोलिया नृत्य की प्रस्तुति से दर्शकों की खूब तालियां बटोरी।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here