सांकेतिक फोटो

लॉकडाउन में एक युवक मुंबई से करीब 1600 किलोमीटर की दूरी तय करके यूपी के श्रावस्ती जिले में तो पहुंच गया। वहां से अपने गांव भी चला गया लेकिन प्रशासन ने उसे 14 दिनों के लिए गांव के ही एक स्कूल में क्वारनटीन कर दिया। वहीं रहस्यमय तरीके से उसकी 6 घंटे में ही मौत हो गई।

श्रावस्ती जनपद के थाना मल्हीपुर क्षेत्र के मठखनवा गांव में सोमवार को महाराष्ट्र से पैदल चलकर चोरी-छिपे गांव पहुंचे युवक ने दम तोड़ दिया। युवक को गांव के स्कूल में बने क्वारनटीन सेंटर में 14 दिनों के लिए रखा गया था लेकिन वह 14 दिन तो छोड़िए, 14 घंटे भी क्वारनटीन सेंटर में नहीं बिता पाया।

युवक सोमवार को सुबह 7 बजे महाराष्ट्र के मुंबई से करीब 1600 किलोमीटर की दूरी तय कर अपने गांव पहुंचा था। दिन में करीब 1 बजे के करीब बात करते-करते उसकी रहस्यमय तरीके से मौत हो गई।


क्वारनटीन सेंटर में युवक की मौत की खबर आग की तरह जिले में फैल गई जिससे जनपद में हड़कंप मच गया। स्वास्थ्य विभाग और पुलिस विभाग के आला अधिकारी आनन-फानन में गांव पहुंचे जहां पर कोरोना प्रोटोकॉल के तहत उसके शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया गया। क्वारन्टीन में युवक की मौत एक रहस्य बन गई जिसको सुलझाने में स्वास्थ्य और पुलिस महकमा लग गया है।

वहीं, मृतक के शव के पास पहुंचे परिवार के लोगों को उसी स्कूल में क्वारनटीन कर दिया गया गया। मृतक के घरवालों का दावा है कि जिस तरह उसके शरीर की हालत थी, उससे यही लगता है कि उसे पैदल चलकर ही इतनी लंबी दूरी तय करके आना पड़ा होगा।

इस पूरे मामले पर श्रावस्ती के सीएमओ पी। भार्गव ने बताया कि अभी इसके बारे में कुछ स्पष्ट नहीं है कि किस कारण से इसकी मौत हुई। यह व्यक्ति सोमवार सुबह ही 7 बजे महाराष्ट्र से आया था। अभी जब तक कुछ विशेष स्पष्ट नहीं हो जाए, कुछ कहना मुश्किल है।

साभार- आज तक

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here