रूद्रपुर। मुरादाबाद का एक मौलवी रुद्रपुर की बमरौली स्थित मस्जिद में नमाज पढ़ाने के लिए चोरी छिपे घुस आया। पुलिस को सूचना मिली तो कार्रवाई की गई और मौलवी को जिला चिकित्सालय में आईसोलेशन में रखवा दिया गया। इस मामले में पुलिस ने बमरौली के ग्राम प्रधान व उसके एक सहयोगी के खिलाफ लॉक डाउन के उल्लंघन का मुकदमा भ्ज्ञी दर्ज कर दिया है।
मामला कल का है। रुद्रपुर की बगवाड़ा पुलिस चौकी को सूचना मिली कि जिला मुरादाबाद से एक मौलवी उत्तराखंड की सीमा में घुसा है। मौवी का नाम रईस बताया गया। उसके चोरी-छिपे यूपी रोड मलसी गांव के रास्ते उत्तराखंड की सीमा में घुस कर बमरौली की मस्जिद की तरफ आने का पता चला। आनन फानन में मौलवी की तलाश शुरू की गई। खोजबीन पर मलसी ड्रम फैक्ट्री के पास रईस हसन को पुलिस ने दबोच लिया। उसने पूछताछ पर बताया कि वह ग्राम ग्राम मैनाठेर मुरादाबाद का निवासी है तथा बमरौली की मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए ग्राम प्रधान द्वारा बुलाया गया है। पुलिस द्वारा बैरियर पर रोके जाने पर भी ग्राम प्रधान जियाउर रहमान उर्फ जियालु व एक स्थानीय युवक सारिक खान द्वारा उसकी मदद की गई। बार्डर पर तैनात पुलिसकर्मियों से पूछताछ पर भी उन्होंने ग्राम प्रधान एवं उक्त युवक द्वारा उक्त मौलवी को छोड़े जाने के लिए उन पर दबाव डालना स्वीकार किया। मौलवी द्वारा लाकडाउन का उल्लंघन कर गांव में जबरदस्ती घुसना तथा ग्राम प्रधान वह सारिक खान द्वारा उक्त मौलवी की मदद कर प्रशासन को गुमराह करने के कारण मौलवी तथा ग्राम प्रधान व सारिक खान के विरुद्ध लाक डाउन का उल्लंघन करने पर थाना रुद्रपुर पर धारा 188, 269, 270 आईपीसी वह 51 आपदा प्रबंधन अधिनियम का मुकदमा पंजीकृत किया गया। कोरोना संक्रमण की संदिग्धता के कारण मौलवी रईस को डॉक्टरों की टीम द्वारा जिला अस्पताल आइसोलेशन वार्ड में दाखिल किया गया। उक्त प्रकरण में मौलवी के फोन की काल डिटेल भी निकाली जा रही है।
टीम में चौकी प्रभारी बगवाड़ा नवीन बुधानी,एएसआई चंद्रप्रकाश बवाड़ी, स्टाफ चौकी बगवाड़ा व क्वारन्टीन टीम शामिल थी।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here