अल्मोड़ाउत्तराखंड

अग्निकांड: रानीखेत में आग की लपटों से घिरा एमईएस का गोदाम, दमकल टीमों की भारी मशक्कत के बाद ढाई घंटे में आग पर काबू, लाखों का सामान स्वाहा

सीएनई रिपोर्टर, रानीखेत
मंगलवार अपरान्ह यहां झूलादेवी मंदिर के समीप स्थित लाखों के सामान से भरे एमईएस के गोदाम में आग धधक पड़ी। जिससे लाखों का सामान आग में स्वाहा हो गया। वहीं गोदाम भवन को भी भारी क्षति पहुंची है। आग लगने की वजह फिलहाल शाट सर्किट माना जा रहा है।
यहां झूलादेवी मंदिर के समीप एमईएस गोदाम में अपराह्न करीब साढ़े चार बजे अचानक आग धधक पड़ी। आग की लपटें देखते ही आनन—फानन में दमकल विभाग को इत्तला की गई और सूचना मिलते ही दमकल की टीमें मय इंतजामों के मौके पर पहुंची और आग बुझाने में जुट गई। एक तरफ दमकल कर्मी आग बुझाने के भरसक प्रयास में जुटे रहे और दूसरी तरफ आग की लपटें भी फैलते रही। दमकल कर्मियों की दो यूनिटों की भारी मशक्कत के बाद देर शाम करीब सात बजे आग पर काबू पाया जा सका। जिसमें करीब ढाई घंटे का वक्त लग गया। इस संबंध में एमईएस के अधिकारियों से बात नहीं हो सकी, लेकिन अनुमान है कि हादसे में लाखों का सामान आग की भेंट चढ़ गया। बताया जा रहा है कि गोदाम में काफी सामान था। वहीं गोदाम भवन को भी काफी क्षति पहुंची है। आग लगने की वजह प्रथम दृष्टया शाट सर्किट ही माना जा रहा है। भारी मशक्कत करने वाली दमकल विभाग की टीम में चालक राजपाल सिंह, एलएफएम मक्खन सिंह, राकेश सिंह कार्कीे, राजकुमार, प्रशांत शर्मा, चन्दन राम, जयबीर सिंह , चांद सिंह थापा आदि आदि शामिल रहे।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!