किच्छा । कांग्रेस प्रदेश महामंत्री हरीश पनेरु ने कहा कि पूरा देश महामारी कोरोना के दौर से गुजर रहा है, ऐसी स्थिति में दलगत राजनीति से ऊपर उठकर किच्छा विधायक राजेश शुक्ला को आरोप-प्रत्यारोप की ओछी राजनीति से बचकर समाज सेवा का कार्य करना चाहिए। जारी बयान में कांग्रेसी नेता पनेरु ने किच्छा विधायक राजेश शुक्ला को नसीहत देते हुए कहा कि यह समय राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप का नहीं है, बल्कि किच्छा क्षेत्र के भूखे, प्यासे, झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले मजदूर लोगों की सेवा करने तथा उन्हें मदद पहुंचाने और उनको हो रही परेशानियों से निजात दिलाने का है। ऐसे समय में जब कोरोना महामारी से पूरा विश्व व भारत देश जूझ रहा है,राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप लगाना विधायक शुक्ला को शोभा नहीं देता। इससे क्षेत्रीय जनता का मनोबल टूटता है व आरोप-प्रत्यारोप करने से जनता के मन में यह सवाल उठना लाजमी होगा कि उनका विधायक क्षेत्र की जनता की सेवा करने की बजाए आरोप प्रत्यारोप की राजनीति में ज्यादा ध्यान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस समय विधायक राजेश शुक्ला फेसबुक पर बार-बार लाइव आकर राजनीतिक आरोप प्रत्यारोप लगा रहे हैं कि मेडिकल कॉलेज रुद्रपुर के निर्माण में कांग्रेस के लोगों ने पैसा नहीं दिया। पनेरु ने याद दिलाया कि यह पंडित नारायण दत्त तिवारी की सोच थी कि हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज मात्र 30 किलोमीटर दूर होने के बावजूद उन्होंने अपने साहस और कद के अनुरूप रुद्रपुर में भी मेडिकल कॉलेज की स्वीकृति दी, उसे भुलाना ठीक नहीं होगा तथा आज रुद्रपुर व पूरे उत्तराखंड में जो भी विकास हुआ है उसका पूरा श्रेय मात्र स्वर्गीय नारायण दत्त तिवारी को जाता है । उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज का श्रेय लेने वाले विधायक शुक्ला शायद यह बात भूल गए हैं कि अगर पंडित तिवारी ने मेडिकल कॉलेज की बुनियाद ही ना रखी होती तो क्या विधायक शुक्ला अपने दम पर मेडिकल कॉलेज की स्थापना करा पाते! पनेरु ने कहा कि क्षेत्रीय विधायक राजेश शुक्ला किच्छा की निम्न समस्याओं का निराकरण कराने में असफल रहे हैं तथा किच्छा से राष्ट्रीय स्तर लॉ कॉलेज का स्थानांतरण विधायक शुक्ला की असफलता का प्रत्यक्ष प्रमाण है, इसके साथ साथ किच्छा की तमाम समस्याएं विगत कई वर्षों से लंबित हैं जिनमें किच्छा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 200 बेड का निर्माण, किच्छा में उच्च स्तर की जांच लैब, जिसमें मरीजों के रक्त की जांच हो सके। रपटा पुल का निर्माण, अटरिया शांतिपुरी रोड का निर्माण , लेफ्ट पावहा नहर का निर्माण, डिग्री कॉलेज के भवन का निर्माण, बस अड्डे का निर्माण, एसडीएम कार्यालय का निर्माण सहित अनेकों समस्याएं किच्छा विधानसभा में हैं जिनका निराकरण कराने में विधायक शुक्ला असफल रहे हैं और अपनी नाकामी छिपाने के लिए अन्गर्ल तथा बेबुनियाद आरोप लगाकर जनता को गुमराह करने का असफल प्रयास कर रहे हैं। पनेरु ने कहा कि किच्छा विधायक बार-बार किच्छा में एसडीएम की तैनाती का झूठा श्रेय लेने की कोशिश करते हैं जबकि किच्छा के कांग्रेसियों ने उनके नेतृत्व में लगातार एक महीने तक एसडीएम की नियुक्ति को लेकर आंदोलन किया था तथा मुख्यमंत्री खंडूरी सहित अनेकों मंत्रियों का नगर आगमन पर जोरदार विरोध किया, जिसके बाद एसडीएम की स्थाई नियुक्ति किच्छा में हुई थी और इस बात से किच्छा की जनता भली-भांति परिचित है। पनेरु ने कहा कि अन्य मुद्दों से जनता का ध्यान भटकाने तथा अपनी असफलताओं को छिपाने के लिए विधायक शुक्ला द्वारा बार-बार मेडिकल कॉलेज के नाम पर स्वयं ही अपना गुणगान कर जनता को गुमराह करने का असफल प्रयास किया जाता है जो कि एक जनप्रतिनिधि को कतई शोभा नहीं देता।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here