अल्मोड़ा। विश्व वॆश्विक कोरोना महामारी के दौर में पूरा विश्व बाजार बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। वहीं पिछले 22 मार्च से प्रधानमंत्री के आह्वान पर संपूर्ण देश की जनता एवं व्यापारी वर्ग लॉक डाउन का शत—प्रतिशत पालन कर आपदाकाल में केन्द्र और राज्य सरकारों के साथ कन्धे से कन्धा मिलाकर पूरे सेवाभाव से राष्ट्रीय कोष में अपना अंशदान जमा कर इस महामारी एवं आपातकाल में सरकारों के साथ खड़े हैं। यह बात आज व्यापार मंडल जिलाध्यक्ष हरेंद्र वर्मा ने सरकार के हालिया फैसले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कही। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से लॉकडाउन में ऑनलाइन व्यापार को अनुमति देकर देश के व्यापारियों के हितों के साथ कुठाराघात किया गया है। श्री वर्मा ने तत्काल अपने पदाधिकारियों के साथ मोबाइल कालिंग बैठक कर स्पष्ट शब्दों में कहा कि जहाँ देश का व्यापारी सहित देश के तमाम व्यापारी संगठन आपदाकाल में केन्द्र एंव राज्य सरकारों के हर फैसले पर अपने व्यापार ऒर कारोबार की चिन्ता छोड़कर अपना पूर्ण सहयोग कर रहे हैं। वहीं सरकार द्वारा बाहरी विदेशी अमेजन, स्नॆपडील, फ्लिपकार्ड जैसी कंपनियों को लॉकडाउन में ऑनलाइन व्यापार की अनुमति देने का जिला व्यापार मण्डल कड़ा विरोध करता है। इन कंपनियों का देश हित में और आपदाकाल में देश के प्रति कोई योगदान नही रहा है। अतः सरकार के इस फैसले का तीव्र विरोध किया जायेगा। उन्होंने सरकार से शीघ्र आनलाइन व्यापार की अनुमति रद्द करने की जोरदार मांग की है। जिला व्यापार मण्डल के सलाहकार त्रिलोचन जोशी ने सरकार के फॆसले पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के कारण जहाँ देश का हर व्यापार बन्द पड़ा हुआ है। वहीं, सरकार द्वारा देश के नागरिक ऒर व्यापारी के हितों की चिन्ता छोड़कर आनलाइन व्यापार की अनुमति देना, देश के व्यापारियों के स्वाभिमान एंव देश निष्ठा पर गहरी चोट है। सरकार को शीघ्र ही अपने निर्णय को वापस लेकर देश के व्यापारियों के स्वाभिमान की रक्षा करनी चाहिए। मोबाइल कालिंग बैठक में जिला महामंत्री कमल गुप्ता, कार्यकारी जिलाध्यक्ष संजय अग्रवाल, संयुक्त महामंत्री विनीत बिष्ट, उपाध्यक्ष मनोज सनवाल, दीप चन्द्र जोशी, मुमताज कश्मीरी, कमल पटवा, कोषाध्यक्ष दिनेश मठपाल आदि ने शिरकत की।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here