सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर
लंबित मांगें पूरी नहीं होने पर नर्सों में गुस्सा बरकरार है। नाराज संविदा नर्सों से सोमवार को बांह में काला फीता बांधकर विरोध जातया। यहां हुई सभा में उन्होंनेे कहा कि यदि उनकी मांगें पूरी नहीं हुई, तो आंदोलन शुरू किया जाएगा। अगर वर्षवार भर्ती शुरू नहीं की गई तो अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी जाएगी। कपकोट बैजनाथ कांडा में भी विरोध शुरू हो गया है।

संविदा एवं बेरोजबार स्टाफ नर्सेज महासंघ के बैनर तले नर्सें सोमवार को जिला अस्पताल में एकत्रित हुईं। यहां जोरदार नारेबाजी के साथ प्रदर्शन किया। इसके बाद सीएमएस डॉ. विनोद टम्टा के माध्मय से मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में उनका कहना है कि नर्सिंग अधिकारी के 2661 पदों पर 12 दिसंबर 2020 को विज्ञापन पकियाग या। लेकिन अभी तक यह भर्ती नहीं हो पाई है। लिखित भर्ती परीक्षा का विज्ञापन तीन बार निरस्त हो चुका है। हम लोग 10 से 15 सालों से संविदा, उपनल समेत विभिन्न आउट सोर्सिंग एजेंसियों के माध्मय से कार्य कर रहे हैं। दुर्गम से लेकर अति दुर्गम में सेवा दे रहे हैं। उन्होंने वर्षवार नर्सिंग भर्ती शुरू करने की मांग की है। मांग पूरी नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। इस मौके पर नीतू लखेड़ा,दीपा, प्रिया, नीता, भावना आदि मौजूद रहे।उधर बैजनाथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भी स्टाफ नर्सों ने काला फीता बांधकर विरोध शुरू कर दिया है। इस मौके पर नमिता सिंह, अंजू पंत, पम्मी राणा,किरन सिंह रेवती दीपक जोशी आदि मौजूद थे।


- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here