उत्तराखंडऊधमसिंह नगर

सितारगंज न्यूज़ : नि:शुल्क नशा मुक्त इलाज एवं हस्तशिल्प प्रशिक्षण देने की मांग, अजय भट्ट को सौंपा ज्ञापन

नारायण सिंह रावत

सितारगंज। एक समाज श्रेष्ठ समाज संस्था अध्यक्ष योगेन्द्र कुमार साहू मार्गदर्शक विनीत अग्रवाल के नेतृत्व में संस्था के माध्यम से नशे से पीड़ित लोगों को नशा से मुक्ति दिलाने के लिए नशा मुक्त पुनर्वास के अंतर्गत नशा मुक्ति पुनर्वास एवं हस्तशिल्प प्रशिक्षण केन्द्र बनाकर नशे से ग्रसित व्यक्तियों के लिए नि:शुल्क नशा मुक्त इलाज एवं हस्तशिल्प प्रशिक्षण देने के लिए संस्था पदाधिकारियों ने नैनीताल सांसद अजय भट्ट को ज्ञापन देकर मांग की गई।

इस दौरान एक समाज श्रेष्ठ समाज संस्था अध्यक्ष योगेन्द्र कुमार साहू कोषाध्यक्ष बलराम हालदार ने संयुक्त रूप से कहा किसी भी राष्ट्र की जनता ही वहां का सबसे बड़ा धन और ताकत होती है यदि जनता का भविष्य ही नशे के अंधकार में चला जाऐं तो वह देश उन्नति नहीं कर सकता है। लेकिन आज की युवा पीढ़ी बीड़ी सिगरेट गुटखा गांजा शराब चरस अफीम शुगर स्मैक हीरोइन कोकीन धुम्रपान करने में अपनी शान समझते हैं। जिससे खुद को नशे का आदि बना चुके हैं जबकि हमारे भारतीय समाज में नशे को सदा बुराइयों का प्रतीक माना और स्वीकार किया गया हैं इनमें सर्वाधिक प्रचलन शराब का है शराब सभी प्रकार की बुराइयों की जड़ है।

शराब व अन्य नशीले पदार्थों के सेवन से मानव के विवेक के साथ सोचने समझने की शक्ति नष्ट हो जाती है क्योंकि नशा करने वाला व्यक्ति निरंतर अपने परिवार से झगड़ा करते करते फिर बाहर के लोगों से मारपीट लूटपाट डकैती बलात्कार एक्सीडेंट जैसे कई अपराधिक कार्यों को अंजाम देता है। जिससे परिवार के साथ क्षेत्र शहर जिला प्रदेश औऱ देश की भी शान्ति कभी कभी भंग हो जाती है और इस तरह से नशा करने वाला व्यक्ति अपने जीवन व परिवार की खुशहाली के साथ साथ क्षेत्र शहर जिला प्रदेश औऱ देश के विकास की राह में रोड़ा बन जाता है क्योंकि हो सकता है की नशे से ग्रसित व्यक्ति जिस पैसे से नशारूपी बुराई खरीद कर इस्तेमाल कर रहे हैं कहीं उसका पैसा उनके स्वास्थ्य के साथ ही पूरे समाज और भारत को भी तबाह कर रहा है।

क्योंकि नशीली पदार्थों पर खर्च हुऐं पैसों से ड्रग्स माफिया अपना जाल फैलाकर उनके उसी पैसे से आतंकवादी हथियार खरीदकर हमारी भारतीय सीमाओं की रक्षा कर रहे भारतीय जवानों का खून बहा सकते हैं औऱ सरकारों के आँखों के नीचे नशे का कारोबार बहुत ही तेजी से चल रहा है लोग नशीले पदार्थों का सेवन कर रहे हैं और मर रहे हैं। समाचार पत्र छप रहे हैं और सब कुछ हो रहा है सिनेमा में भी बार बार इस बात को बताया जा रहा है लेकिन सरकार इसके विरुद्ध कदम ही नहीं उठा रही है जो यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण विषय है इसका एक ही कारण हो सकता है की नशीली पदार्थों के बेचने वालों ड्रग्स माफियाओं को राजनेताओं का संरक्षण प्राप्त हो सकता है।

यदि नशा मुक्त पुनर्वास के अंतर्गत हर प्रदेश सरकार अपने अपने प्रदेशों में अधिक से अधिक नशा मुक्त पुनर्वास केन्द्र एवं हस्तशिल्प प्रशिक्षण केन्द्र का निर्माण कराकर नियमित रूप से निशुल्क नशा मुक्त इलाज एवं हस्तशिल्प प्रशिक्षण देकर नशे से पीड़ित व्यक्तियों के जीवन को अंधकार में जाने से बचा सकते हैं। तो फिर नशा मुक्त व्यक्ति सामूहिक शक्ति प्राप्त कर चरित्रवान बलवान बनेंगे औऱ तामसी वृत्ति समाप्त हो जाएगी और सात्विक वृत्ति बढ़ने लगेगी जिससे धर्म और कर्तव्य की भावना विकसित होगी क्योंकि संघर्ष को मानव जीवन का दूसरा नाम कहा जाता है।

इसी संघर्ष से व्यक्ति कुन्दन की तरह शुद्ध और पवित्र बन जाता है जिससे फिर व्यक्ति हमेशा समाजहित और भारतहित में कार्य करता है। इस दौरान नैनीताल सांसद अजय भट्ट को ज्ञापन देने में संस्था मार्गदर्शक विनीत अग्रवाल अध्यक्ष, योगेन्द्र कुमार साहू, कोषाध्यक्ष बलराम हालदार, शक्तिफार्म संस्था उपसचिव राकेश बैरागी, अभिजीत सरकार, संदीप यादव, रितिक साहू, गोविन्द मिस्त्री, मुकेश कुमार, सूरज मिस्त्री, सुशील राय व दीपक प्रजापति लोग उपस्थित रहे।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!