सांकेतिक फोटो

ओखलकांडा। ओखलकांण्डा विकासखंड की कौन्ता ग्रामसभा में बाघ के आतंक से ग्रामीण परेशान हैं। मंगलवार को ग्रामीण बच्ची सिंह बिष्ट की 2 बकरियों को बाघ ने अपना निवाला बनाया और बच्ची सिंह पर भी बाघ ने हमला कर दिया। वे किसी तरह अपनी जान बचा कर भाग निकले। एक सप्ताह पहले प्रताप सिंह बिष्ट की 3 बकरियों को बाघ ने एक साथ मार डाला था। क्षेत्र के क्षेत्रीय सामाजिक कार्यकर्ता दिनेश सिंह बिष्ट ने बताया कि अभी तक क्षेत्र के कई लोगों की बकरियों को बाघ ने अपना शिकार बनाया और इसकी सूचना पहले से ही वन विभाग के अधिकारियों को दी जा चुकी है। सामाजिक कार्यकर्ता रमेश चन्द्र टम्टा ने वन विभाग से अनुरोध किया है कि जल्द से जल्द बाघ को पकड़ने का अभियान शुरू करें तथा ग्रामीणों को उनके नुकसान का मुआवजा दिया जाए।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here