अल्मोड़ाउत्तराखंड

अल्मोड़ा न्यूज: सामान्य विषय के अभ्य​र्थियों में भारी निराशा, 1431 पदों में से हिस्से में आए सिर्फ 27 पद, अदालत की शरण लेंगे

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा
सालों बाद आयोग से सहायक अध्यापक (एलटी) की भर्ती के लिए विज्ञप्ति जारी हुई है और इसके इंतजार में बैठे टीईटी उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को नौकरी की नई किरण दिखी और खुशी प्राप्त हुई, मगर सामान्य विषय के अभ्यर्थियों में भारी निराशा है। वजह है कि सामान्य शाखा के पदों की संख्या विज्ञप्ति में न्यून है। यहां तक कि कुमाऊं मंडल में शून्य पद हैं। अब निराश अभ्यर्थी न्यायालय की शरण लेने की तैयारी में हैं।
गौरतलब है कि लंबे वक्त से शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) उत्तीर्ण अभ्यर्थी एलटी की भर्ती विज्ञप्ति का इंतजार कर रहे थे। टीईटी उत्तीर्ण करने के बाद कई अभ्यर्थी वैधता अवधि 7 साल पूरी करने के करीब पहुंच गए और कुछ अधिकतम आयु सीमा के करीब हैं। इस बार 1431 पदों के लिए विज्ञप्ति जारी हुई। इससे अभ्यर्थियों में खुशी की लहर है, किंतु सामान्य विषय के अभ्यर्थियों में निराशा है। वजह है कि 1431 पदों में से सामान्य शाखा के पद अत्यंत न्यून हैं। इस बात से सामान्य शाखा के अभ्यर्थी खफा हैं।
इसी सिलसिले में सामान्य विषय बेरोजगार संघ नैनीताल में एक बैठक कर उक्त स्थिति पर मंथन कर चुका है। संघ के अध्यक्ष कुलदीप सिंह ने बैठक की गतिविधि की जानकारी देते हुए बताया कि कुल 1431 पदों में से सामान्य शाखा के गढ़वाल मंडल में कुल 27 पद हैं और कुमाउं में शून्य। इस बात पर बैठक में रोष प्रकट किया गया। बैठक में यह भी कहा गया है कि वर्ष 2016 में भी सामान्य विषय अभ्यर्थियों को सरकार ने छला। अब फिर वही बात है। आक्रोश इस बात को लेकर है कि सूचना अधिकार अधिनियम के तहत अभ्यर्थियों द्वारा ली गई सूचना के अनुसार वर्तमान में सामान्य शाखा के 261 पद रिक्त हैं, लेकिन महज पूरे उत्तराखंड में 27 पद ही विज्ञापित किए गए हैं। यह भी कहा गया कि सुप्रीम कोर्ट के एक आदेश के अनुसार शिक्षकों के पद रिक्त नहीं रखे जाने हैं, क्योंकि अतिथि शिक्षक सिर्फ कामचलाऊ व्यवस्था है। बैठक में निर्णय लिया है कि सामान्य विषय के अभ्यर्थियों द्वारा अब न्यायालय की शरण में जाने की तैयारी की जाएगी। उक्त बैठक में रमेश, महेश, पुष्पेंद्र, गोकुल नगरकोटी, तनुजा, आशा, पूजा, कविता आदि उपस्थित थे।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!