अल्मोड़ाउत्तराखंडजन समस्या

अल्मोड़ा : अब सीएमओ दफ्तर पर गरजे कांग्रेसी, बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं के खिलाफ आक्रोश

सीएनई संवाददाता, अल्मोड़ा
29 अगस्त, 2020
शनिवार को कांग्रेसजन यहां मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय पर गरजे। उन्होंने अल्मोड़ा की स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाली को लेकर सीएमओ दफ्तर पर धरना—प्रदर्शन किया और स्वास्थ्य सेवाओं को तत्काल तंदरूस्त बनाने की पुरजोर मांग की। उन्होंने गत दिनों इलाज में लापरवाही के कारण हुई गर्भवती की मौत के प्रकरण की निष्पक्ष जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।
पूर्व विधायक मनोज तिवारी के नेतृत्व में कांग्रेसजन पूर्वाह्न सीएमओ कार्यालय पांडेखोला पहुंचे। जहां उन्होंने बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर आक्रोश व्यक्त करते हुए सरकार व स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ नारेबाजी की और वहीं धरने पर बैठ गए। इस मौके पर पूर्व विधायक मनोज तिवारी ने कहा कि विगत लम्बे समय से क्षेत्र की जनता अल्मोड़ा की बदहाल चिकित्सा सेवाओं एवम् चिकित्सा विभाग के असंवेदनशील रवैये से त्रस्त है। चिकित्सालयों की लापरवाही से कई लोग जान से हाथ धो बैठे हैं और कई मरीज उचित ईलाज के अभाव में प्राईवेट अस्पतालों में महंगा ईलाज करवाने को मजबूर हैं। श्री तिवारी ने कहा कि जिला अस्पताल की स्थिति दिन प्रतिदिन खराब होती जा रही है। राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा ने कहा कि कुछ दिनों पूर्व कोसी-कटारमल निवासी मुन्ना सिंह की गर्भवती पत्नी आशा देवी को कोरोना की आशंका के चलते जिला अस्पताल से बेस अस्पताल के बीच दौड़ाया और ईलाज में अत्यधिक देरी व घोर लापरवाही से महिला व उसके गर्भ में पल रहे शिशु की मृत्यु हो गयी। उन्होंने कहा कि यदि महिला की जिला अस्पताल में ही कोरोना की रैपिड जांच हो जाती और तत्काल उसे इलाज मिलता तो महिला एवं उसके गर्भस्त शिशु की जान बच सकती थी। जिलाध्यक्ष पीताम्बर पाण्डेय ने कहा कि पूर्व में भी अल्मोड़ा चिकित्सा विभाग की असंवेदनशीलता से कई मरीज परेशानियां झेल रहे हैं।
कांग्रेसजनों मांग की कि गर्भवती महिला की मौत प्रकरण के दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए, ताकि भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं होने पाए।उन्होंने पीड़ित परिवार को उचित राहत राशि प्रदान करने की भी मांग की। कांंग्रेस नगर अध्यक्ष पूरन सिंह रौतैला ने कहा कि यदि मामले की निष्पक्ष जांच करने के साथ ही दोषी चिकित्सकों एवम् कर्मचारियों पर कड़ी कार्यवाही नहीं की जाती है, तो कांंग्रेस पार्टी जनता को साथ में लेकर एक वृहद आन्दोलन को बाध्य होगी। उन्होंने कहा कि किसी भी सूरत में अब अल्मोड़ा की जनता के हितों की अनदेखी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस धरना-प्रदर्शन में कांग्रेस की महिला जिलाध्यक्ष लता तिवारी, यूथ अध्यक्ष निर्मल रावत, राजेन्द्र बाराकोटी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष तारा चन्द्र जोशी, पारितोष जोशी, राजेन्द्र बोरा, गीता मेहरा, राधा बिष्ट, संजय दुर्गापाल, शरद साह, दीपा साह, दीप सिंह डांगी, अमित बिष्ट, जिला प्रवक्ता राजीव कर्नाटक, जिला सचिव दीपांशु पान्डेय, विपुल कार्की, महेन्द्र बिष्ट, विनोद वैष्णव, कार्तिक साह, शिब्बू मेहरा, राबिन भण्डारी, चन्द्र कुमार फौजी, हीरा सिंह बिष्ट, नरेन्द्र कुमार, कुलदीप सिंह, अशोक ग्वासीकोटी, अर्जुन सिंह, महेन्द्र मटेला, दीपक सिराड़ी, सुरेश परदेशी, ललित सतवाल, रोहित रौतैला, विजय कनवाल, प्रदीप बिष्ट, संजीव कर्मयाल, ललित कनवाल, बालम भाकुनी, बालाजी, नितिन रावत, संदीप तड़ागी, नवल बिष्ट, कुलदीप मेर, सुन्दर बिष्ट, मुकेश बिष्ट, संजू सिंह, राहुल बिष्ट, भुवन आर्या, आकाश जंगपांगी, अमित नेगी, रमेश नेगी, हेम तिवारी, कमल तिवारी, एनएस रौतैला, चन्दन कनवाल, दिनेश पिलख्वाल, मनोज वर्मा, हिमांशु मेहता सहित दर्जनों कांग्रेसजन शामिल हुए।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!