सोलनहिमाचल

नालागढ़ ब्रेकिंग : नालागढ़ में निजी स्कूलों के खिलाफ एक बार फिर अभिभावकों ने खोला मोर्चा

नालागढ़। एक तो पहले ही कोरोना महामारी के चलते देश व प्रदेश के सबसे बड़े औद्योगिक क्षेत्र बद्दी बरोटीवाला नालागढ़ के लोग आर्थिक तौर पर परेशान हो चुके हैं,दूसरी ओर उनके बच्चे भी स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। निजी स्कूलों द्वारा बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जा रही है और सरकार द्वारा भी कहा गया था कि निजी स्कूल मात्र ट्यूशन फीस ही अभिभावकों से लेंगे। बावजूद इसके निजी स्कूलों पर एक बार फिर अभिभावकों ने री एडमिशन फीस व सालाना फीसों को लेकर तंग करने का आरोप लगाया है। इसी के चलते सोमवार को क्षेत्र के लोगों द्वारा एकत्रित होकर निजी स्कूलों के खिलाफ जहां मोर्चा खोल दिया, एसडीएम कार्यालय के बाहर निजी स्कूलों के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रोष प्रदर्शन भी किया गया। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि कोरोना महामारी के चलते आर्थिक तौर पर स्थिति खराब हो चुकी है और निजी स्कूलों द्वारा उनके ऊपर सालाना फीस व एडमिशन फीस देने का जबरन दबाव बनाया जा रहा है।

उन्होंने एसडीएम नालागढ़ को एक ज्ञापन देकर निजी स्कूलों के खिलाफ जहां कार्रवाई करने की मांग की है। वहीं प्रदर्शनकारियों ने प्रशासन व निजी स्कूलों को चेतावनी देकर भी कहा है कि अगर निजी स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो वे आने वाले दिनों में एसडीएम कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन एवं अनशन करने को भी मजबूर होंगे, जिसकी जिम्मेदारी स्थानीय प्रशासन व सरकार की होगी।

इस बारे में जब हमने दून वैली पब्लिक स्कूल के प्रबंधक राजीव शर्मा से बात की तो उन्होंने कहा कि सरकार की गाइडलाइन आई थी कि निजी स्कूल अपनी पूरी फीस ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि इसके मद्देनजर देखते हुए फिर भी उन्होंने 50% ही फीस लेने की बात रखी थी। उन्होंने कहा कि अब तक तो उन्हें ट्यूशन फीस भी पूरी नहीं आई है। उन्होंने कहा कि अगर किसी अभिभावक को पैसे को लेकर कोई दिक्कत है तो वह हमें एप्लीकेशन दे सकतें हैं। उनकी समस्या का हल किया जाएगा साथ ही उन्होंने कहा है कि अभिभावक की समस्याएं जेनुअन होनी चाहिएं।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!