सर्वेक्षण कार्य में लापरवाही कतई ना करें-डीडीओ
सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा

जनपद के समस्त ग्राम पंचायतों राजस्व ग्रामों में अन्य पिछड़ा वर्ग की संख्या की वास्तविक स्थिति एवं राजनीतिक प्रतिनिधित्व के त्वरित सर्वेक्षण कार्य के लिए आज विकास भवन सभागार में नोडल अधिकारी एवं जिला विकास अधिकारी केएन तिवारी की अध्यक्षता में प्रशिक्षण आयोजित किया गया। जिसमें सहायक नोडल अधिकारी, खंड विकास अधिकारियों व सर्वेक्षण के लिए नामित अधिकारियों को विस्तृत जानकारी देते हुए व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया गया।

इस मौके पर पर जिला विकास अधिकारी ने कहा कि यह सर्वेक्षण कार्य समय सीमा के अंतर्गत किया जाना है और इसमें किसी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह कार्य सावधानीपूर्वक व त्रुटि रहित किया जाए। उन्होंने सभी खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह प्रतिदिन इस कार्य की माॅनिटरिंग करेंगे। उन्होंने कहा कि इस कार्य हेतु शासन द्वारा प्रदत्त प्रपत्रों को सभी खंड विकास अधिकारी संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को समय से जारी कर दें। उन्होंने निर्देश दिए कि सभी अधिकारी व कर्मचारी आपसी समन्वय बनाकर इस कार्य को करें। उन्होंने सभी खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि 04 अगस्त यानी कल विकास खंडवार प्रगणकों तथा पर्यवेक्षकों को प्रशिक्षण के साथ ही सर्वेक्षण संबंधी सामग्री वितरित की जाएगी। उसे निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत वितरित कर लिया जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक प्रगणक को एक राजस्व ग्राम में 200 परिवारों में पिछड़े वर्ग के व्यक्तियों का सर्वे कार्य किया जाना है।


डीडीओ ने बताया कि इस कार्य के प्रमाण प्रक्रिया हेतु वर्ष 2013 में सम्पन्न अन्य पिछड़ा वर्ग रैपिड सर्वे के डेटा, परिवार रजिस्ट्रर का डेटा, अन्य पिछड़ा वर्ग के संदर्भ में जातिगत कोई भी अभिलेख एवं निर्वाचित प्रतिनिधियों एवं ग्रामीणों के पुष्टिकरण का समावेश किया जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रगणकों द्वारा तैयार की गई सूचियों का पर्यवेक्षक द्वारा संकलन करके उसके अनुसार ग्राम पंचायत तथा क्षेत्र पंचायत वार निर्धारित प्रारूप पर सूचियॉ तैयार कर जिलाधिकारी को प्रेषित की जायेंगी तथा जिलाधिकारी द्वारा ग्राम पंचायत वार क्षेत्र पंचायत वार व जिला पंचाायत वार सूचियॉ निदेशक पंचायती राज को उपलब्ध करायी जायेंगी। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि अपरिहार्य कारणों को छोड़कर इसी प्रकार का अवकाश स्वीकृत किया जाए। इस बैठक में सभी उप जिलाधिकारियों ने भी अपने सुझाव रखे। प्रशिक्षण में उप जिलाधिकारी गोपाल सिंह चैहान, जयवर्धन शर्मा, भिकियासेन शिप्रा जोशी, गौरव पांडे समेत परियोजना निदेशक चंद्रा फर्त्याल, जिला पंचायत राज अधिकारी गोपाल सिंह अधिकारी सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here