प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (फाइल फोटो)

देहरादून| प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का देवभूमि उत्तराखंड का दौरा तय हो गया है। वह 21 अक्टूबर को केदारनाथ और बद्रीनाथ में पूजा-अर्चना के बाद वहां पुनर्निर्माण कार्यों का निरीक्षण करेंगे। केदारनाथ में वह केदारनाथ रोपवे परियोजना की आधारशिला रखेंगे, जबकि बद्रीनाथ में दर्शन के बाद देश के अंतिम गांव माणा में सीमांत क्षेत्रों के विकास को शुरू की गई वाइब्रेंट विलेज योजना के अंतर्गत सड़क व रोपवे परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे।

प्रधानमंत्री के रूप में नमो का केदारनाथ का यह छठवां और बद्रीनाथ का दूसरा दौरा है। प्रोटोकाल मंत्री सौरभ बहुगुणा ने प्रधानमंत्री का प्रस्तावित कार्यक्रम मिलने की पुष्टि की। उधर, प्रधानमंत्री के दौरे को देखते हुए आज बुधवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी बद्रीनाथ पहुंचे। जहां उन्होंने बद्रीनाथ में चल रहे कार्यों का निरीक्षण किया।

प्रधानमंत्री का कार्यक्रम फाइनल

प्रधानमंत्री केदारनाथ धाम के कपाट खुलने व बंद होने के अवसर पर वहां आते रहे हैं। इसे देखते हुए इस बार भी उनके आने को लेकर लंबे समय से चर्चा चल रही है। उनके दौरे के मद्देनजर तैयारियां भी राज्य स्तर पर चल रही थीं। अब प्रधानमंत्री का कार्यक्रम फाइनल हो गया है।


केदारनाथ रोपवे का करेंगे शिलान्यास

प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार प्रधानमंत्री 21 अक्टूबर सुबह 7 बजे दिल्ली से देहरादून पहुंचेंगे। 8 बजे केदारनाथ पहुंचकर बाबा केदार के दर्शन करेंगे। इसके बाद वह केदारनाथ रोपवे का शिलान्यास करेंगे। आदि गुरु शंकराचार्य की समाधि स्थली में कुछ समय बिताने के बाद वह मंदाकिनी व सरस्वती आस्थापथ के निर्माण कार्यों का निरीक्षण करेंगे।

माणा गांव में आयोजित कार्यक्रम में लेंगे भाग

लगभग ढाई घंटे केदारनाथ में रहने के बाद प्रधानमंत्री बद्रीनाथ के लिए रवाना होंगे। भगवान बदरीनारायण के दर्शन व पूजा के पश्चात वह रिवरफ्रंट एवं साकेत चौक में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों को देखेंगे। दोपहर में प्रधानमंत्री माणा गांव में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेंगे और फिर बद्रीनाथ लौटकर अराइवल प्लाजा व झील निर्माण कार्य का निरीक्षण करेंगे। शाम को उनके समक्ष बद्रीनाथ का थीम आधारित प्रस्तुतीकरण किया जाएगा। रात्रि विश्राम बद्रीनाथ में करने के बाद 22 अक्टूबर की सुबह प्रधानमंत्री दिल्ली रवाना हो जाएंगे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here