हल्द्वानी। कोरोना संक्रमण को देखते हुये सुशीला तिवारी अस्पताल को कोरोना विशेष चिकित्सालय के रूप में विकसित किया जा चुका है। इसके चलते सुशीला तिवारी को बेस चिकित्सालय में शिफ्ट कर दिया गया है। बेस चिकित्सालय में मरीजों को और बेहतर चिकित्सा सुविधायें उपलब्ध कराने के लिए जिलाधिकारी सविन बंसल द्वारा कैम्प कार्यालय में मंगलवार को चिकित्साधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की तथा चिकित्सा सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए निर्देश दिये।
उन्होंने कहा कि बेस चिकित्सालय से अधिग्रहित निजी चिकित्सालयों मे केवल गम्भीर बीमारी से ग्रसित मरीजों को ही गठित रैफर समिति की संस्तुति पर ही भेजा जाए तथा रैफर किये गये मरीजों की जानकारी अनिवार्य रूप से मुख्य चिकित्साधिकारी को भी दी जाए। रैफर कमेटी निजी चिकित्सालयों से रैफर किये गये मरीज के सम्बन्ध में दोतरफा संवाद भी बनाये रखें।
बंसल ने कहा कि बेस चिकितसालय में एसटीएच के चिकित्सक भी सम्बद्व किये गये है। इसलिए चिकित्सकों की ड्यूटी 24 घंटे शिफ्ट वार रहेगी तथा प्रत्येक शिफ्ट में वरिष्ठ चिकित्सक भी तैनात किये जांए। उन्होंने कहा गम्भीर बीमारी से ग्रसित मरीजों को ही गठित कमेटी प्रमाणिक कारण लिखते हुये रैफर करें ताकि उन्हे उचित उपचार मिल सके।
जिलाधिकारी ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में चिकित्साधिकारी अपने दायित्वों को समझते हुये संवेदनशील होकर कार्य करें। विशेषज्ञ चिकित्सक निरंतर 24 घंटे आनकाॅल डयूटी पर रहेंगे, ताकि बुलाये जाने पर तत्काल बेस चिकित्सालय पहुचकर मरीज का उपचार कर सकें। बंसल ने कहा कि निजी चिकित्सालयों में भर्ती कोरोना संभावित (संदिग्ध) मरीजों की सैम्पलिंग स्वयं करेंगे तथा सैम्पल जांच के लिए एसटीएच को उपलब्ध करायेंगे। इस प्रकार के मरीजों को निजी अस्पताल सुशीला तिवारी को ना भेजें, सैम्पल पोजेटिव होने की दशा में ही मरीज को एसटीएच भेजा जाए।
जिलाधिकारी ने प्राइवेट चिकित्सालयों को कोरोना सैम्पल लेेने की ट्रेनिंग देने के निर्देश सीएमओ को दिये। जिलाधिकरी ने बेस चिकित्सालय में लैब टैक्नीशियन तैनात करने की स्वीकृति दी तथा बेस चिकित्सालय में सोशल डिस्टेंसिंग व अन्य व्यवस्थायें बनाने लिए 10 होमगार्ड व पीआरडी जवानों की तैनाती की भी सहमति दी।
बैठक मे अपर जिलाधिकारी एसएस जंगपांगी, सीएमओ डा. भारती राणा, सीएमएस बेस डा. हरीश लाल,परामर्शदाता डा. विनीता साह, चिकित्साधीक्षक एसटीएच डा. अरूण जोशी,एसीएमओ डा. रश्मि पंत तथा डा. डीएस काण्डपाल आदि मौजूद थे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here