अल्मोड़ा। समाजसेवी व पूर्व छात्रसंघ कोषाध्यक्ष मनोज बिष्ट भय्यू ने कहा कि जहां एक ओर पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है और जबरदस्त आर्थिक तंगी का दौर चल रहा है, वहीं प्राईवेट स्कूलों ने अभिभावकों को फीस जमा करने के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया है।
उन्होंने कहा कि सरकार के मंत्री अरविंद पांडे द्वारा समाचार पत्रों के माध्यम से कहा गया था कोई भी स्कूल दो व 3 महीने की फीस नहीं लेंगे, लेकिन कोई स्पष्ट आदेश नही होने से असमंजस की स्थिति पैदा हो रही है। मनोज बिष्ट ने शिक्षा मंत्री व मुख्यमंत्री से अपील करी कि वह यह स्पष्ट करें कि अभिभावकों को स्कूली की फीस भरनी है या नही। उन्होंने चेतवानी दी कि इन प्राइवेट स्कूलों की मनमानी बर्दाश्त नही की जायेगी। चेतावनी दी कि अगर कोई भी स्कूल इस विपत्ति में किसी भी छात्र व उसके परिजनों को फीस के लिए परेशान करेंगे तो उसके खिलाफ मोर्चा खोला जाएगा। उन्होंने प्राइवेट स्कूलों को यह भी नसीहत दी है कि आप ऑनलाइन क्लासेस अच्छी तरह से चलाएं जिससे कि बच्चों को आगे पढ़ने मैं कोई परेशानी ना हो। इस विपत्ति की घड़ी में लोगों की मदद करने के बजाय कोई किसी भी व्यक्ति को परेशान करता है तो यह सबसे बड़ा अपराध है। उन्होंने सभी को रमजान के पवित्र महीने की भी हार्दिक बधाई देते हुए एकजुट होकर कोरोना महामारी से लड़ने की अपील की।

Advertisement

1 COMMENT

  1. School Mai keval tuition fees hi Lene chahiy Baki sabhi Tarah ki fees maf honi Chahiye. Or yah niyam Uttarakhand government ko pass Karna hi parega. Jissai school teachers ki salary bhi mill jay or parents ko bhi paresani na ho

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here