अल्मोड़ाउत्तराखंड

सोमेश्वर न्यूज: कूड़ा निस्तारण और पेयजलापूर्ति की समस्या बनी सिरदर्द, एसडीएम को सुनाया दुखड़ा, तहसील प्रशासन ने स्थान चयन को किया निरीक्षण

सीएनई रिपोर्टर, सोमेश्वर
सोमेश्वर में लंबे समय बाद भी कूड़ा निस्तारण एक विकट समस्या बनी है। वहीं काफी समय से पेयजलापूर्ति की ध्वस्त व्यवस्था से लोग परेशान हैं। इन्हीं दो प्रमुख समस्याओं को लेकर बुधवार को व्यापार मंडल अध्यक्ष आनंद सिंह बोरा के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल उप जिलाधिकारी सीमा​ विश्वकर्मा से मिला और उनसे इन समस्याओं के त्वरित निदान की पुरजोर मांग की।
शिष्टमंडल ने मुख्य बाजार के कूड़ा-निस्तारण समस्या से एसडीएम को अवगत कराया और अविलंब समस्या के निस्तारण की मांग की गई। एसडीएम सीमा विश्वकर्मा ने कूड़ा निस्तारण के लिए स्थान चिह्नित करने के लिए सर्वे करने का आश्वासन दिया और स्थान उपलबध होते ही शीघ्र कूड़ा निस्तारण की व्यवस्था चौकस करने का आश्वासन दिया। व्यापारियों ने उन्हें पेयजलापूर्ति की शिकायत की और विभागीय अधिकारियों पर समस्या की अनसुनी करने की शिकायत की। ऐसी शिकायत का ज्ञापन भी उन्हें सौंपा और इस अनदेखी पर आक्रोश व्यक्त किया। शिष्टमंडल ने अविलंब पेयजल समस्या का समाधान करने की पुरजोर मांग की। वार्ता के बाद उप जिलाधिकारी सीमा विश्वकर्मा के नेतृत्व में प्रशासन की टीम ने बाजार के आसपास कूड़ा निस्तारण के लिए स्थान चयन के लिए निरीक्षण किया। निरीक्षण ​में उचित स्थान के चयन का प्रयास किया गया। एसडीएम ने कहा कि कोसी व साईं नदी में गन्दगी कतई नहीं डाली जानी चाहिए। व्यापार मंडल अध्यक्ष ने कौसानी मार्ग में स्थित विधायक आवास के पास सड़क किनारे कूड़ा डालने की भी मनाही की। सर्वे में एसडीएम के साथ नायब तहसीलदार निशा रानी, कानूनगो गणेश सिंह अधिकारी, उप निरीक्षक रविमोहन बिष्ट, दीवान नाथ गोस्वामी व आनन्द राम आदि शामिल रहे।साथ ही प्रतिनिधि मंडल के लोग व्यापार मंडल अध्यक्ष आनंद सिंह बोरा, कैलाश जोशी, डीपी जोशी, राजा बोरा, भूपेंद्र सिंह भण्डारी आदि मौजूद रहे।
सोमेश्वर में यत—तत्र कूड़े का साम्राज्य
सोमेश्वर में कूड़ा निस्तारण की उचित व्यवस्था के अभाव में लोग यत—तत्र कूड़ा फैंकने को मजबूर हैं। पर्यटन स्थल कौसानी की ओर जाने वाले मोटरमार्ग के किनारे कूड़े के ढेर पड़े हैं। पास में विधायक

आवास भी है। इसके अलावा मनसारीनाला की सड़क में कोसी पुल के पास भी कूड़ा-करकट बेतरतीब ढंग से फेंका जा रहा है। यहां ​कूड़ा निस्तारण की समस्या विकट बनी है। कई लोग अपने घरों का कूड़ा करकट कूड़ेदान में नहीं डालकर सड़क किनारे फेंक रहे हैं। यहां तक कि सड़क किनारे नालियां भी गंदगी से पट रही हैं। कई लोगों ने यह सुझाव भी दिया कि गंदगी फैलाने वालों का चालान कर जुर्माना ठोका जाए।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!