सुहैल हत्याकांड: बहन को प्यार में दिया धोखा तो भाई ने उतार दिया मौत के घाट
Ramnagar businessman Suhail murder case

रामनगर अपडेट। चोरपानी से गायब हुए व्यापारी सुहैल का मुरादाबाद जिले में गन्ने के एक खेत से शव बरामद हुआ था। इस मामले में पुलिस ने खुलासा कर दिया है और एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया। व्यापारी 2 तारीख से लापता था। जिसका आज शुक्रवार को मुरादाबाद में शव बरामद हुआ था। आगे पढ़े….

पुलिस ने बताया….

3 अगस्त को जुबैर सिद्दिकी ने थाना स्थानीय पर अपने भाई सुहैल सिद्दिकी के 2 अगस्त की रात्रि 9 बजे दुकान बंद करने तथा वापिस घर न आने सम्बन्धी तहरीर दर्ज कराई, जिस पर थाना स्थानीय ने मुकदमा दर्ज किया। तत्पश्चात प्रभारी निरीक्षक कोतवाली रामनगर अरुण कुमार सैनी के निर्देशन में क्रमशः व.उ.नि. प्रेमराम विश्वकर्मा, उ.नि. नीरज चौहान, उ.नि. विजयपाल सिंह के नेतृत्व में 3 टीमों का गठन कर गुमशुदा की तलाश शुरू की गयी तो चोरपानी में गुमशुदा सुहैल की स्टेशनरी की दुकान के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों से एक अल्टो कार द्वारा गुमशुदा की मोटर साइकिल नं. UK04L4832 में टक्कर मारना तथा गुमशुदा सुहैल सिद्दिकी को अल्टो कार में डालने का प्रयास करने की जानकारी प्राप्त हुई तथा अन्य साक्ष्यों के संकलन से गुमशुदा सुहैल सिद्दिकी का गुमशुदा की चोरपानी स्थित स्टेशनरी की दुकान के पास ही रहने वाले हरीश राम की लड़की के साथ कई वर्ष पूर्व प्रेम प्रसंग होने तथा इसी प्रेम प्रसंग के कारण हरीश राम की लड़की द्वारा आत्महत्या करने तथा हरीश राम के परिवार द्वारा सुहैल से रंजिश रखने की जानकारी प्राप्त हुई।आगे पढ़े….

बहन को प्यार में दिया धोखा तो भाई ने उतार दिया मौत के घाट – बताई हत्याकांड की वजह

तब संदिग्धता के आधार पर हरीश राम के लड़के भरत आर्या को पूछताछ हेतु थाने लाया गया तो सख्ती से पूछताछ में उसने बताया कि मेरे पिताजी की चोरपानी कमल जनरल स्टोर के पीछे लोहार की दुकान है। हमारे पिताजी की दुकान के बगल में ही सुहैल सिद्दीकी पुत्र नासिर सिद्दिकी निवासी नन्दा लाईन रामनगर जिला नैनीताल की स्टेशनरी की विगत 10 सालों से दुकान है। नौकरी में लगने से पहले मैं सुहैल सिद्दीकी की दुकान में कभी कभार बैठ जाता था और उनके छोटे मोटे काम कर दिया करता था। सुहैल सिद्दीकी मुझे उस समय बहुत पसन्द करता था, मेरी वजह से मेरे घर में भी उसकी अच्छी बोलचाल थी मेरे दोस्ताने की वजह से मेरी छोटी बहन सुहैल की दुकान में उसके कुत्तों के लिए रोटी आदि बना दिया करती थी और कभी कभार झाड़ू पोंछा कर दिया करती थी। सुहैल सिद्दिकी ने इस बात का फायदा उठाकर मेरी नाबालिग बहन को अपने प्यार के जाल में फंसाकर उसे अपने विश्वास में ले लिया और आये दिन उसके साथ गलत काम करने लगा। आगे पढ़े….


उस समय था गरीब बाद में लिया बदला

उस समय हम लोग बहुत गरीब थे इसलिए मैने सुहैल सिद्दीकी से इस बारे में कोई बात नहीं की। मेरी बहन को सुहैल सिद्दीकी ने इस कदर अपने प्यार के जाल में फांस लिया था कि मेरी बहन सुहैल सिद्दिकी को नहीं भूल पा रही थी। उन्ही दिनों सुहैल सिद्दिकी के अन्य प्रेम प्रसंग के बारे में मेरी बहन को पता चला तो उसने सुहैल सिद्दिकी से अपने प्यार का वास्ता देकर और अपने साथ किये गलत काम का वास्ता देकर शादी करने को कहा तो सुहैल सिद्दिकी ने साफ साफ शब्दों में इन्कार कर दिया, इसी दुःख में मेरी बहन ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली तथा सुहैल सिद्दिकी जब भी मेरे सामने आता था तो अक्सर घुमा फिराकर मुझे मेरी बहन को लेकर टोन्टबाजी करता था, तब मेरा खुन खौल जाता था परन्तु उस समय घर की आर्थिक स्थिति अत्यधिक खराब थी और मै उन दिनों मेरी नौकरी लगी थी तथा मैं ट्रेनिंग पीरीयड में था, इस कारण में सुहैल को कुछ नहीं कह पाता था। परन्तु मैंने मन ही मन उसे एक न एक दिन जान से मारने की ठान ली थी। आगे पढ़े….

पुलिस गिरफ्तारी में आरोपी भरत आर्या

एक महीने की छुट्टी पर आया घर और दिया हत्याकांड को अंजाम

इस बार 14 जुलाई 2022 को मैं एक महीने की छुट्टी पर अपने घर आया था जिस दिन मैं छुट्टी पर आया उसके 3-4 दिन बाद मैं अपनी पिताजी की दुकान पर गया था तो सुहैल सिद्दिकी ने मुझे उपहास भरी नजर देखकर मुझ पर कमेन्ट किया तो मेरे तन बदन में आग लग गयी तथा मुझे अपनी बहन की याद आ गयी मैंने उस दिन मन में ठान लिया कि इस बार मैं सुहैल को मौत के घाट उतारकर ही दम लूंगा। इसलिए मैंने अपने करीबी दोस्त दिनेश टम्टा पुत्र भोपाल राम निवासी नारायणपुर मूल्या रामनगर, नैनीताल से संपर्क कर उसे अपने पास बुलाया और सुहैल को रास्ते से हटाने की पूरी योजना बनायी, दिनेश भी तैयार हो गया। हमने 2 अगस्त को सुहैल को खत्म करने की योजना बनाई। आगे पढ़े…..

योजना के तहत रात को करीब 8:30 बजे हम दोनों अपनी अल्टो कार से सुहैल की दुकान से कोटद्वार रोड की तरफ करीब 200 मीटर मोड़ पर नहर के किनारे पहुंचे अल्टो कार वहीं पर खड़ी कर हम दोनों सुहैल के आने का इंतजार करने लगे। मैंने सुहैल की रैकी करने के लिए दिनेश को उसकी दुकान के आस-पास भेजा कुछ समय बाद दिनेश रैकी कर वापस आया तथा कहा कि तैयार हो जाओ सुहैल आ रहा है हम दोनों अल्टो स्टार्ट कर सुहैल के आने का इन्तजार करने लगे कुछ समय बाद सुहैल अपनी मोटर साइकिल प्लेटिना से जैसे ही हमारे पास पहुंचा तो हमने सुहैल की मोटर साइकिल पर टक्कर मार दी जिससे सुहैल नहर पटरी पर गिर गया उसके सिर पर चोट आ गयी सुहैल खड़े होने का प्रयास करने लगा तो हमने गाड़ी में रखे लोहे के रोडों से उसके सिर पर तेज प्रहार किये जिससे मौके पर ही सुहैल की मौत हो गयी। आगे पढ़े….

दोस्त ने दिया साथ…

फिर हम दोनों ने सुहैल की लाश को मेरी अल्टो कार में रख कर मैं कार चला कर ले गया और सुहैल की मोटर साइकिल नं. UK04L4832 दिनेश चलाकर ले गया, मैंने घटना में प्रयुक्त रॉड रास्ते में फैक दिया और सुहैल का मोबाइल फोन आधार कार्ड पर्स नहर के तेज बहाव में फैक दिये। हम दोनों सुहैल की लाश को लेकर कानिया चौराहे से मालधन चौड़ होते हुए काशीपुर के रास्ते मुरादाबाद काठ रोड में छजलेट थाना क्षेत्र में सड़क के किनारे पहुंचे वहां पर हमने सुहैल की मो.सा. चाबी सहित सड़क के किनारे झाडियो में फैक दी और अल्टो में बैठकर सुहैल की लाश को मो.सा. रखने की जगह से करीब 500 मी. आगे जाकर मैन रोड से बायी तरफ जाने वाले रास्ते में करीब 200 मी. अन्दर जाने के बाद गन्ने के खेत में फैक दिया और लाश की पहचान छुपाने के लिए अपने पास प्लास्टिक की बोतल में रखे पैट्रोल को लाश के चेहरे पर छिड़ककर आग लगा दी और उसके बाद हम दोनों वापस रामनगर आ गये। आगे पढ़े….

अभियुक्त भरत आर्या की निशानदेही पर मृतक सुहैल सिद्दिकी की हत्या किये जाने में प्रयुक्त अल्टो कार संख्या UP16L0115, लोहे की रोड आलाकत्ल रामनगर क्षेत्रान्तर्गत से तथा मृतक सुहैल की मोटर साइकिल प्लेटिना व मृतक सुहैल का शव जनपद मुरादाबाद के थाना छजलैट क्षेत्र से बरामद कर अभियुक्त को न्यायिक अभिरक्षा में भेजा जा रहा है।

पुलिस टीम में…

1- एसएचओ अरुण कुमार सैनी
2- व.उ.नि. प्रेम विश्वकर्मा
3- उ.नि. नीरज चौहान
4- उ.नि. विजय पाल सिंह
5- एचसीपी नन्दन सिंह नेगी
6- कानि. 875 सीपी हेमन्त सिंह
7- कानि. 836 संजय सिंह
8- कानि. 904 गगन भण्डारी
9- कानि. 297 भूपेन्द्र सिंह
10- कानि. 71 राजेश कुमार
11- कानि. 618 जयवीर सिंह
12- कानि. 455 दीवान सिंह
13- कानि. SOG अनिल गिरी

यह भी पढ़े :- हल्द्वानी तहसील से रजिस्ट्रार कानूनगो रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here