उत्तराखंडनैनीताल

नैनीताल : क्षतिग्रस्त लोअर माल रोड की मरम्मत का कार्य शुरू

नैनीताल। पर्यटन नगरी नैनीताल की अपर व लोअर माल रोड लाईफ लाइन हैं। आवागमन के साथ ही यह महत्वपूर्ण रोड तल्लीताल व मल्लीताल को भी जोड़ती हैं तथा सैलानियों के चहल कदमी में भी माल रोड का इसतेमाल होता है। गुजरे समय में लोअर माल रोड का लगभग 25 मीटर हिस्सा धंस कर झील में समा गया था और काफी बड़ी दरार आ गयी थी, जिससे आवागमन काफी समय तक बाधित रहा और वाहनों का लोड अपर माल रोड पर आ गया। लोअर माल रोड के महत्व एवं उसकी संवेदनशीलता को समझते हुए जिलाधिकारी सविन बंसल ने विगत एक वर्ष पूर्व कार्यभार ग्रहण करने के बाद लोअर माल रोड की आवश्यक मरम्मत किये जाने का आगणन लोनिवि से कराया और बजट आवंटन के लिए शासन से प्रभावी अनुश्रवण भी किया जिसका परिणाम ये हुआ कि शासन द्वारा भेजे गये प्रस्ताव पर मुहर लगाते हुए 82 लाख की धनराशि इस महत्वपूर्ण लोअर माल रोड की मरम्मत के लिए निर्गत कर दी।

बीते सोमवार को जिलाधिकारी सविन बंसल ने लोनिवि तथा प्रशासनिक अधिकारियों के साथ क्षतिग्रस्त लोअर माल रोड का मुआयना किया और लोनिवि के अधिकारियों को तत्काल मरम्मत कार्य शुरू करने के निर्देश दिए और कहा कि लॉकडाउन हटने के बाद सरोवर नगरी में पर्यटकों की संख्या बढ़ने लगी है। ऐंसे में यातायात को सुगम बनाये रखने के साथ ही पर्यटकों को कोई कठिनाई न हो, लिहाजा ऐंसे में क्षतिग्रस्त लोअर माल रोड की मरम्मत का कार्य युद्ध स्तर पर गुणवत्ता के साथ किया जाये। उन्होंने मरम्मत कार्यों के अनुश्रवण के लिए उप जिलाधिकारी विनोद कुमार को नोडल अधिकारी नामित किया है।

गौरतलब है कि जिलाधिकारी बंसल के अथक प्रयासों से क्षतिग्रस्त मालरोड की मरम्मत एवं सुद्रढ़ीकरण हेतु शासन ने राज्ययोजना के अन्तर्गत 82 लाख धनराशि आंवटित की। जिलाधिकारी ने गुजरे समय 03 फरवरी 2020 को सड़क के निरीक्षण के दौरान क्षतिग्रस्त सड़क के शॉर्ट टर्म ट्रीटमेन्ट के लिए लोक निर्माण विभाग को शीघ्र कार्ययोजना तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ग्राण्ड होटल के समीप माल रोड़ में 18 अगस्त 2018 में भू-धसाव के कारण सड़क का 25 मीटर लम्बाई व 2.5 मीटर चैड़ा हिस्सा नैनी झील में समा जाने से वाहनों का आवगमन अवरूद्ध हो गया था।

इस स्थान पर वायरक्रेट के अन्दर जीयो बैग एंव रेत भरकर झील के अन्दर डाले गये व इनके स्र्पोट के लिए एक लाईन 75 एमएम जीआई पाईप को झील के अन्दर सीमेन्ट कंक्रीट से ग्राउट किया गया। इस अस्थायी कार्य पूर्ण कर लोअर माल रोड़ को 20 सितम्बर 2018 को यातायात के लिए खोल दिया गया। इस किये गये कार्य के बाद भी सड़क के दोनो ओर भू-धसाव हो कर दरारे आ गई स्थल के क्षतिग्रस्त की सम्भावना बनी रही। लोअर माल रोड़ पर पूर्व में क्षतिग्रस्त रोड़ के दोनों ओर आई दरारों पर चिन्ता व्यक्त करते हुए निरीक्षण दौरान जिलाधिकारी बंसल ने लोनिवि के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे आईआईटी की सर्वे कर चुकी टीम के साथ वार्ता कर शॉर्ट टर्म ट्रीटमेन्ट हेतु कार्ययोजना एंव आंगणन प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें ताकि समय रहते सड़क का सुदृढ़ीकरण कार्य किया जा सके। लोनिवि द्वारा सड़क सुदृढीकरण हेतु 82.01 लाख का आंगणन प्रस्तुत किया गया, जिसे तुरन्त जिलाधिकारी द्वारा शासन को बजट आवंटन हेतु भेजा गया व शासन स्तर पर कई बार पत्राचार व वार्ता भी की गई।

जानकारी देते हुए उप जिलाधिकारी विनोद कुमार ने बताया कि क्षतिग्रस्त लोअर माल रोड में ड्रिलिंग के लिए जीबी 42 ड्रिलिंग मशीन के पर्जे नैनीताल पहुंच चुके हैं, भारी भरकम पुर्जों को जोड़ने का काम शुरू हो गया है। इसके बाद मौके पर गहरी ड्रिलिंग की जायेगी। अधिशासी अभियंता लोनिवि दीपक गुप्ता ने बताया कि क्षतिग्रस्त सड़क को ठीक करने के लिए मौके पर 21-21 मीटर गहरी दो लाइनो में 17-17 खड्डे खोदे जाने हैं, जिसके लिए ड्रिलिंग मशीन दिल्ली से मंगाई गई है। उन्होंने बताया कि क्ष्तिग्रस्त लोअर माल रोड की मरम्मत करना लोनिवि की प्राथमिकता में है तथा युद्ध स्तर पर एक-दो दिन में कार्य प्रारंभ कर दिया जायेगा।

जिसका घर वाले कर चुके थे अंतिम संस्कार, वो 4 साल बाद बच्ची के साथ लौटी वापस

भवाली : घोड़ाखाल-श्यामखेत मोटर मार्ग का निर्माण कार्य शुरू, लोगों को मिलेगी सहूलियत

Leave a Comment!

error: Content is protected !!