Uncategorized

भगवान के कई रूप : चमोली आपदा में बेघर हुई मां बेटी को एसडीआरएफ इंस्पेक्टर ने दिया अपना घर

चमोली। चमोली आपदा में बेघर हुई एक महिला और उसकी बेटी के लिए एसडीआरएफ के इंस्पेक्टर हरक सिंह राणा देवदूत बनकर आए। उन्होंने बेघर हुई इस महिला और उसकी बेटी को नए मकान बनने तक अपना घर सौंप दिया है। उन्होंने कहा है कि जब तक पीड़ित के लिए नया मकान नहीं बन जाता दोनों मां बेटी उनके घर में आराम से रह सकती है। एसडीआरएफ के इंस्पेक्टर की यह दरियादिली लोगों में चर्चा का विषय तो बनी ही उनकी सोशल मीडिया पर भी जमकर सराहना हो रही है।

चमोली ब्रेकिंग : ऋषिगंगा पर बनी कृत्रिम झील का मुहाना 35 फीट खोला, डिस्चार्ज बढ़ा

दरअसल चमोली के रैंणी में आई प्राकृतिक आपदा में कई लोगों की जानें गई तो कई लोगों के घर आपदा की भेंट चढ़ गए। इसी आपदा में 85 वर्षीय सोणा देवी का भवन भी बाढ़ की जद में आकर क्षतिग्रस्त हो गया जिस कारण बुजर्ग महिला और उनकी बेटी के लिए रहने की समस्या उत्पन्न हो गयी।

उत्तराखंड ब्रेकिंग : इन पांच राज्यों से आने वाले लोगों को अनिवार्य रूप से कराना होगा कोरोना टेस्ट

इस कठिन समय में उत्तराखण्ड पुलिस की SDRF में तैनात इंस्पेक्टर हरक सिंह राणा आगे आये और आपदा प्रभावित बुजुर्ग महिला और उसकी बेटी को रहने के लिए अपना मकान भी दे दिया। उन्होंने कहा कि जब तक उनके रहने के लिए नया मकान नहीं बनता वह आराम से उनके मकान पर रह सकती हैं। आपदा के वक्त में इंसानियत का फर्ज निभाने वाले इंस्पेक्टर हरक सिंह राणा मिसाल बनकर सामने आए हैं।

उत्तराखंड ब्रेकिंग : बलात्कार के आरोपी को पेड़ से बांधकर पीटा, चार लोगों पर केस, पुलिस कर रही तलाश

Leave a Comment!

error: Content is protected !!