अन्तरराष्ट्रीयउत्तराखंडदेहरादूननैनीतालब्रेकिंग न्यूजसी एन ई विशेष

उत्तराखंड ब्रेकिंग : वीडियो: देखिए शिकारियों की कड़की में फंसी गुलदार को बचाते हुए कैसे बन आई रेस्क्यू टीम की जान पर

file photo

देहरादून। वन विभाग की रेस्क्यू टीम ने झाझरा में पेट्रोलियम यूनिवर्सिटी के पीछे जंगल में शिकारियों की कड़की में अपना एक पैर फंसा बैठी तीन साल की मादा गुलदार को रेस्क्यू किया है। अब उसे कुछ दिनों तक पशु चिकित्सकों के आब्जर्वेशन में रखा जाएगा। इस मादा गुलदार को जंगल के शिकारियों के बिछाए ट्रेप से मुक्त कराने में टीम को एक घंटे से ज्यादा का समय तो लगा ही इस बीच ट्रेंकुलाइज की गई गुलदार को होश भी आ गया लेकिन टीम के सदस्यों ने हिम्मत दिखाते हुए उसे दोबारा से काबू करके पिंजरे में डालने में सफलता हासिल कर ही ली। सीएनई अपने पाठकों के लिए लाया है इस पूरे आपरेशन का लाइव वीडियो।
देखें वीडियो

वन विभाग के झाझरा रेंज आफीसर डा. विनोद चौहान ने रेस्क्यू टीम को कल सुबह जानकारी दी थी कि झाझरा पेट्रोलियम यूनिवर्सिटी के पीछे जंगल में एक मादा गुलदार शिकारियों द्वारा बिछाई गई कड़की में फंसी हुई है। इस वन टीम इंचार्ज रवि जोशी और उनके साथ जितेंद्र बिष्ट मौके पर पहुंचे और गुलदार को कड़की से मुक्त कराने के प्रयास शुरू किए। इस काम के लिए धैर्य और हौसले की आवश्यकता होती है। इस बीच ग्रामीण और झाझरा के रेंज आफीसर डा. विनोद चौहान, पशु चिकित्सक डा. राकेश नौटियाल भी मौके पर आ पहुंचे। टीम ने चुपचाप जाकर कड़की में फंसी गुलदार पर जाल डाल कर उसे काबू में किया, उसे डा. नौटियाल ने उसे ट्रेंकुलाइज किया, काफी मशक्कत के बाद गुलदार का पैर कड़की के फंदे से निकाला जा सका, लेकिन पिंजरे में रखे जाने से पहले गुलदार को होश आ गया और वह जाल से बाहर निकल आई। गनीमत रही कि गुलदार अर्धबेहोशी के आलम में थी। उसे दोबारा से जाल डाल कर काबू किया गया और फिर से ट्रेंकुलाइज करके उसे पिंजरे में रखा जा सका।

सुनो कहानी में आज सुनें उत्तराखंड के उत्तरकाशी के कथाकार महाबीर रंवाल्टा की कहानी गंध, सुनकर न दहल जाएं तो कहिएगा


Leave a Comment!

error: Content is protected !!